Bilaspur Railway News: बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मालगाड़ी के मैनेजर (गार्ड) ने सतर्कता का परिचय देते हुए दुर्घटना से बचा लिया। संरक्षा से जुड़े इस कार्य के लिए उन्हें अक्टूबर माह का महाप्रबंधक मासिक संरक्षा सम्मान से पुरस्कृत किया गया। इस पुरस्कार को पाकर मैनेजर गदगद हुए। इस तरह के पुरस्कार से कर्मचारियों का मनोबल बढ़ता है। रेलवे में यह बेहद अच्छी बात है।

रायपुर रेल मंडल में कार्यरत अमित कुमार जोशी ट्रेन मैनेजर है। 11 अक्टूबर को भिलाई मार्शलिंग यार्ड चरोदा से डोगरगढ़ की ओर जा रही थी मालगाड़ी में उनकी ड्यूटी थी। दुर्ग-रसमरा के बीच किलोमीटर 871/29 पर स्थित शिवनाथ ब्रिज पर रात्रि के समय में ट्रेन मैनेजर को एक झटका महसूस हुआ। इस पर उन्होंने तत्काल मालगाड़ी को रोक दिया। तकनीकी खामी पाए जाने पर उन्होंने इसकी सूचना तुरंत संबंधित अधिकारी को दी। उन्होंने सतर्कता का परिचय देते हुए संभावित दुर्घटना को टालने में प्रशंसनीय कार्य किया। इसके लिए सभी ने उनकी पीठ थपथपाई। इतना ही नहीं संरक्षा से संबंधित अच्छी जानकारी, सजगता, सतर्कता एवं बेहतर संरक्षा भरे कार्य की सराहना करते हुए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर महाप्रबंधक आलोक कुमार ने मैनेजर को प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर महाप्रबंधक ट्रेन मैनेजर से संवाद भी किया तथा उनके कार्य की जानकारी ली एवं भविष्य में भी बेहतर कार्य करने के लिए प्रेरित किया।

इस अवसर पर अपर महाप्रबंधक, प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक, प्रमुख मुख्य संरक्षा अधिकारी सहित सभी विभागाध्यक्ष उपस्थित थे। किसी भी कर्मचारी के लिए बेहतर कार्य के बदले पुरस्कार मिलना बड़ी बात होती है। रेलवे में पुरस्कार देकर प्रोत्साहित करने की परंपरा है। खासकर इस तरह के कार्यों के लिए आए दिन सम्मानित किया जाता है। इससे न केवल कर्मचारी उत्साहित होते हैं,बल्कि सम्मान पाकर उनमें और बेहतर कार्य करने की ललक होती है। इससे पहले भी संरक्षा पुरस्कार दिया गया है। इससे दूसरे कर्मचारियों को भी प्रोत्साहन मिलता है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close