बिलासपुर। Bilaspur Railway News: दिव्यांग रेलकर्मियों को घर से काम करने रेलवे बोर्ड का नियम है। पर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में यह व्यवस्था लागू नहीं हो सकी है। इससे कर्मचारी नाराज के साथ संक्रमण को लेकर भयभीत भी हंै। उनकी इस समस्या को लेकर श्रमिक यूनियन ने वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी को पत्र लिखकर जोन के सभी दिव्यांग कर्मचारियों को इस सुविधा का लाभ देने की मांग की है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन में 1500 दिव्यांग रेलकर्मी हैं। बिलासपुर रेल मंडल की बात करें तो यहां 250 के करीब संख्या है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए ही रेलवे यूनियन ने भारतीय रेलवे के सभी दिव्यांग रेल कर्मचारियों को घर से ही काम करने की सुविधा देने का मुद्दा रेलवे बोर्ड में उठाया था।

इस पर बोर्ड ने आदेश भी जारी कर दिया। आदेश में लिखा है कि भारतीय रेल में कार्यरत सभी दिव्यांग रेल कर्मचारी घर पर रहकर कार्य करेंगे। इस आदेश से जोन के कर्मचारियों में खुशी थी और यही सोच रहे थे कि जल्द ही अन्य रेलवे की तरह यहां भी नियम लागू हो जाएगा। पर यहां व्यवस्था ही लागू नहीं की गई। इसके चलते कर्मचारियों को निराशा है और संक्रमित होने का भय भी है।

उन्होंने इसकी मांग भी की, लेकिन किसी तरह का असर रेल प्रशासन पर नहीं पड़ा। इस स्थिति में श्रमिक यूनियन के मंडल संयोजक सी. नवीन कुमार ने वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी को पत्र लिखकर सभी दिव्यांग रेल कर्मचारियों को शीघ्र इसका लाभ देने की मांग की, ताकि कर्मचारियों को कोरोना का संक्रमण से बचाया जा सके। यूनियन की मांग को कार्मिक अधिकारी ने स्वीकार करते हुए शीघ्र पत्र जारी करने का आश्वासन दिया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local