Bilaspur Railway News: बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राजनांदगांव-कलमना के बीच स्थित चाचेर रेलवे स्टेशन को तीसरी लाइन से जोड़ने का काम किया जाएगा। 31 जनवरी से तीन फरवरी तक 80 घंटे तक होने वाले इस कार्य के दौरान पांच ट्रेनें नियंत्रित की जाएंगी। वहीं दो प्रारंभिक स्टेशन से ही देर से छूटेगी।

जोन में तेजी से चल रहा काम

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन में अभी चौतरफा काम चल रहा है। इनमें सबसे ज्यादा नई लाइन को मुख्य लाइन से जोड़ने का काम है। इन लाइनों में दूसरी व तीसरी लाइनें शामिल है। इसके अंतर्गत राजनांदगांव-कलमना सेक्शन के चाचेर रेलवे स्टेशन को तीसरी लाइन से जोड़ने के लिए नान इंटरलाकिंग का कार्य किया जाएगा। राजनांदगांव-कलमना रेलमार्ग की लंबाई 228 किमी है। इसके विभिन्न स्टेशनों को तीसरी लाइन से जोड़ा भी जा चुका है। इस कार्य को चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जा रहा है।

ये ट्रेनों होंगी प्रभावित

नान-इंटरलाकिंग का कार्य 31 जनवरी से तीन फरवरी तक चलेगा। इस दौरान 31 जनवरी को टाटानगर से चलने वाली 18109 टाटानगर-इतवारी एक्सप्रेस व 18239 कोरबा-इतवारी एक्सप्रेस को गोंदिया एवं भंडारा रोड स्टेशनों के बीच दो घंटे 30 मिनट नियंत्रित किया जाएगा। इसी तरह दो फरवरी को निजामुद्दीन से चलने वाली 12808 निजामुद्दीन-विशाखापत्तनम एक्सप्रेस को नागपुर व कामठी रोड स्टेशन के बीच एक घंटे 45 मिनट, एक फरवरी कुर्ला से चलने वाली 22511 कुर्ला-कामाख्या एक्सप्रेस को भी नागपुर एवं कामठी रोड स्टेशनों के बीच 45 मिनट रोककर रखा जाएगा। इंदौर से चलने वाली 20917 इंदौर-पुरी हमसफर एक्सप्रेस को इन्हीं स्टेशनों के बीच 40 मिनट नियंत्रित किया जाएगा। दो ट्रेनें विलंब से रवाना होंगी। इसके तहत एक फरवरी को इतवारी से चलने वाली 18110 इतवारी-टाटानगर एक्सप्रेस को दो घंटे 30 मिनट और 31 जनवरी को इतवारी से चलने वाली 18239 इतवारी-बिलासपुर शिवनाथ एक्सप्रेस को दो घंटे 30 मिनट विलंब से रवाना किया जाएगा।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close