बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। नो-पार्किंग में खड़ी गाड़ियों के चालकों पर आरपीएफ लगातार सख्ती बरत रही है। इसे लेकर अभियान भी चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान 10 दिनों में 280 वाहन के मालिकों पर कार्रवाई की जा चुकी है। उनके खिलाफ रेलवे अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

स्टेशन के सामने पार्किंग की जगह निर्धारित नहीं थी। यात्री या उन्हें छोड़ने के लिए पहुंचने वाले स्वजन जहां मर्जी गाड़ी खड़ी कर देते थे। इसके चलते स्टेशन के सामने गाड़िया बेतरतीब नजर आती थी। इस अव्यवस्था को सुधारने के लिए डीआरएम ने खुद स्र्चि दिखाई और आरपीएफ को अभियान चलाकर ऐसे वाहन चालकों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। आरपीएफ का अभियान जारी है। 10 दिनों में 280 पर कार्रवाई की गई।

हालांकि पहले भी कार्रवाई होती थी, लेकिन उतनी गंभीरता नहीं दिखाई जाती थी। इसके चलते वाहन चालकों में खौफ भी नहीं रहता था। अब तक सीधे स्टेशन के सामने गाड़ी खड़ी करने से रोक दिया जाता था। इसके बाद कोई जानबूझकर गाड़ी खड़ी करते हैं तो उनके वाहन लाक कर दिए जाते हैं। इसके बाद चालक के खिलाफ रेलवे अधिनियम की धारा 159 के तहत कार्रवाई की जाती है। लगातार सख्ती का असर है कि स्टेशन के सामने की पार्किंग व्यवस्था में काफी सुधार आया है।

अब गाड़ियां पार्किंग में नजर आती है या फिर स्वजन बाहर खड़े होकर इंतजार करते हैं। रेलवे सुरक्षा बल के द्वारा स्पष्ट चेतावनी दी गई है कि यह अभियान अब नहीं स्र्केगा। इसी तरह जांच और कार्रवाई होगी। ऐसी गाड़ियां पर नजर रखने के लिए एक बल सदस्य की प्रतिदिन ड्यूटी भी लगाई जा रही है। इससे यात्रियों को परेशानी भी हो रही है। रेल प्रशासन का कहना है कि यदि सभी यात्री गाड़ी पार्किंग में खड़ी करने लगे तो यहां की पार्किंग की व्यवस्था कभी भी नहीं गड़बड़ होगी। जगह-जगह नो-पार्किंग का बोर्ड भी लगाया जा रहा है, ताकि यात्रियों को सही जानकारी मिल सके।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close