बिलासपुर। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षा 15 फरवरी से शुरू होगी। ठीक पहले बोर्ड ने अफवाह फैलाने वाले शरारती तत्वों को चेतावनी दी है। दो टूक कहा कि अगर गैर कानूनी गतिविधियों में संलिप्तता पाई गई कानूनी कार्रवाई की जाएगी। स्टूडेंट व अभिभावकों को आधारहीन जानकारी से बचने सलाह दी है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे अंग्रेजी माध्यम हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य केके मिश्रा ने कहा कि बोर्ड परीक्षा शुरू होते ही कुछ शरारती तत्व सक्रिय हो जाते हैं। पेपर लीक से लेकर कई तरह की भ्रामक जानकारी सोशल मीडिया या स्टूडेंटको भेजते हैं। जिसके कारण बच्चे भ्रमित होते हैं और पढ़ाई में एकाग्रता भंग हो जाती है। परीक्षा के दौरान इसका नुकसान भी उठाना पड़ता है। सीबीएसई ने आम जनता से अपील की है कि वे परीक्षा अच्छे से संपन्न् हो जाने में सहयोग करें और किसी तरह की अफवाह नहीं फैलाएं। साथ ही आधारहीन सूचनाओं पर विश्वास न करें।

शरारती तत्व सोशल मीडिया वेबसाइटों पर वीडियो पोस्ट करके बोर्ड परीक्षा को लेकर अफवाह फैलाना शुरू भी कर दिया है। जिन पर कड़ी निगरानी है। इस तरह के वीडियो का मकसद स्टूडेंट्स, पैरेंट्स, स्कूल और आम जनता के बीच भय पैदा करना है।

शरारती तत्वों को चेतावनी दी जाती है और सलाह दी जाती है कि वे खुद को अफवाह फैलाने जैसी गैरकानूनी गतिविधि से दूर रखें। अगर कोई इस तरह की सूचना सीबीएसई की जानकारी में आती है तो तत्काल कानून सम्मत आवश्यक कार्रवाई होगी। जेल भी हो सकती है।

गौरतलब है कि सीबीएसई कक्षा 12वीं की परीक्षा 15 फरवरी को शुरू होगी और 30 मार्च को खत्म होगी। क्लास 10 की परीक्षा 15 फरवरी को शुरू होगी और 20 मार्च तक चलेगी। शहर में इस साल करीब चार हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket