बिलासपुर। कोटा विकास खंड के ग्राम शिवतराई स्थित गोठान को राज्य शासन ने उत्कृष्ठ गोठान की श्रेणी में रखते हुए गोठान समिति को 25 हजार स्र्पये का पुरस्कार दिया है। इसके अलावा समिति के अध्यक्ष व ग्राम पंचायत की सरपंच को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया है। स्वाधीनता दिवस के अवसर पर तखतपुर की विधायक व संसदीय सचिव रश्मि सिंह ने गोठान समिति के अध्यक्ष व सरपंच को प्रशस्ति पत्र और 25 हजार स्र्पये का चेक भेंट किया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की महत्वाकांक्षी योजना नरवा,गस्र्वा,घुरवा व बाड़ी योजना की प्रदेश के साथ ही जिले में अब चमकदार तस्वीर दिखाई देने लगी है। राज्य शासन ने प्रदेश के उन गोठानों को उत्कृष्ठ गोठान के रूप में पुरस्कृत करने की घोषणा की थी जहां ग्रामीण अर्थव्यवस्था से जुड़े कामकाज को प्राथमिकता के अनुसार किया जा रहा है।इसी कड़ी में कोटा ब्लाक के शिवतराई गोठान का चयन किया गया।

शिवतराई के गोठान में गोबर खरीदी के साथ ही वर्मी कंपोस्ट का निर्माण महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा किया जा रहा है। वर्मी कंपोस्ट के अलावा गोबर से बने अन्य उत्पाद का निर्माण्ा भी महिलाएं कर रही हैं। वर्मी कंपोस्ट और गोबर से बने उत्पाद का निर्माण के साथ ही बाजार में इसकी बिक्री भी कर रही हैं। आर्थिक स्वावलंबन की दिशा में महिलाओं ने बड़ा उदाहरण पेश किया है।

गोमूत्र की हो रही खरीदी

हरेली के दिन से शिवतराई के गोठान में गोमूत्र की खरीदी भी हो रही है। मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद जिला प्रशासन ने बिलासपुर जिले के दो गोठानो का चयन गोमूत्र की खरीदी के लिए किया गया है। शिवतराई के अलावा पौंसरी के गोठान से इसकी खरीदी प्रारंभ की गई है। पौंसरी का गोठान में भी आर्थिक स्वावलंबन की दिशा में अच्छा काम हो रहा है। वर्मी कंपोस्ट के अलावा गोबर से बने अन्य उत्पाद के साथ ही यहां महिलाएं सब्जी की खेती भी कर रही हैं।

महिलाओं को कर रहीं प्रशिक्षित

शिवतराई और पौंसरी की महिला स्व सहायता समूह की महिलाएं गांव की अन्य महिलाओं को भी गोबर से उत्पाद बनाने का प्रशिक्षण दे रही हैं। आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने की दिशा काम कर रही हैं। प्रशिक्षित करने के साथ ही उनके उत्पादों को बाजार उपलब्ध करा रही हैं।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close