बिलासपुर। Bilaspur Smart City News: पहले अंडरग्राउंड सीवरेज सिस्टम और अब अमृत मिशन के लिए खोदाई ने सड़कांे का कबाड़ा कर दिया है। व्यापार विहार में रोड की दुर्गति देखकर लगता ही नहीं कि यह स्मार्ट सड़क है। जगह-जगह से उखड़ी हुई सड़कें और गड्ढों में भरा पानी राहगीरों के लिए जानलेवा साबित ना हो जाए। स्मार्ट रोड के आगे की सड़कों की ऐसी दुर्दशा कि जरा भी असावधानी या चूक हुई नहीं कि वाहन से सीधे गड्ढों पर ही गिरेंगे। भारी वाहनों की आवाजाही के बीच इस सड़क पर चलना खतरे से कम नहीं है। अमृत मिशन योजना के तहत ठेका कंपनी द्वारा सड़कों के किनारे पाइप लाइन बिछाने का काम किया गया है।

इसके चलते पूरी सड़क खराब हो गई है। स्मार्ट रोड बनाने के साथ ही सड़कों के बीचोबीच डिवाइडर लगाया गया है। डिवाइडर के एक तरफ की सड़क की हालत कुछ ज्यादा ही खराब है। महाराणा प्रताप चौक से व्यापार विहार की तरफ जाने वाली सड़क के दाहिने ओर की सड़क में जगह-जगह गड्ढे नजर आ रहे हैं। बारिश के दिनाें में यह सड़क और भी खतरनाक हो गई है। थोड़ी सी बारिश हुई नहीं कि गड्ढों में पानी भर जाता है। रात में इस सड़क से गुजरना जोखिम से कम नहीं है। गड्ढों में पानी भरा होने के कारण यह पता ही नहीं चलता है कि सड़क ठीक है या गड्ढा है। गड्ढों में गिरकर दोपहिया वाहन सवार रोज ही घायल हो रहे हैं। चार पहिया वाहन चालकों को भी कम जोखिम नहीं है।

भारी वाहनों की आवाजाही

सुबह से लेकर देर रात तक इस मार्ग पर भारी वाहनों की आवाजाही होती रहती है। थोक मंडी व्यापार विहार में अन्य प्रांतों से सामान की आपूर्ति होती है। इसके अलावा व्यापार विहार से संभाग के विभिन्न् शहरों सामान भेजा जाता है। भारी माल से लदे चारपहिया वाहनों की आवाजाही लगातार बनी रहती है। इसके चलते दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है।

स्मार्ट रोड एक नजर में

लंबाई- 1.6 किलोमीटर

चौड़ाई- 12 मीटर

लागत- 26 करोड़

निर्माण एजेंसी- नगर निगम

ठेकेदार- कल्याण पटेल

प्रभारी इंजीनियर-पीके पंचायती

व्यापार विहार की सड़क को दुस्र्स्त करने के लिए कहा गया है। इस मार्ग पर सुबह से लेकर देर रात तक भारी वाहनों की आवाजाही लगी रहती है। इसके अलावा रिहायशी इलाका भी है। लोगों की जानमाल की सुरक्षा सबसे प्रमुख है। बारिश के बाद मरम्मत का निर्देश दिया गया है।

रामशरण यादव-महापौर,नगर निगम

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local