Bilaspur Weather Update: बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नवंबर में शरीर को कंपाने के बाद अब दिसंबर में सर्दी माथा ठनकाएगी। बंगाल की खाड़ी में हलचल, चक्रीय चक्रवात और पश्चिमी विक्षोभ का असर समाप्त होते ही ठंड और बढ़ेगी। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो दिसंबर में हाड़ कंपाने वाली ठंडी पड़ती है। शीतलहर भी चलती है। इस साल पांच दिसंबर के बाद मौसम में परिवर्तन की संभावना है।

मौसम वेधशाला के मौसम विज्ञानी डा. एचपी चंद्रा के मुताबिक बिलासपुर में मौसम अभी शुष्क बना हुआ है। यह स्थिति आने वाले दिनों बनी रह सकती है। एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित है। इसके कारण क्षोभ मंडल के निम्न स्तर पर हल्की नमी का आगमन हो रहा है। परिणाम स्वरूप प्रदेश के दक्षिणी भाग में हल्के बादल आए हुए हैं। एक पश्चिमी विक्षोभ एक दिसंबर को जम्मू कश्मीर को प्रभावित करने की संभावना है।

इसके कारण उत्तर से आने वाली ठंडी और शुष्क हवा में बाधा आने की संभावना है। प्रदेश में एक दिसंबर को मौसम शुष्क रहने की संभावना है। प्रदेश में न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी का क्रम जारी रहने की संभावना है। परंतु न्यूनतम तापमान में कोई बड़ा परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। प्रदेश के बस्तर संभाग में तीन दिसंबर तक न्यूनतम तापमान में तीन से चार डिग्री तक वृद्धि होने की संभावना है। फिलहाल बिलासपुर में न्यूनतम तापमान 13 से 14 डिग्री सेल्सियस के बीच है। यानी रात में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इसके कारण सुबह की धूप अच्छी लगने लगी है।

प्रमुख शहरों का तापमान

शहर --- अधिकतम --- न्यूनतम

बिलासपुर --- 29.6 --- 13.4

पेंड्रारोड --- 28.1 --- 12.5

अंबिकापुर --- 24.9 --- 10.6

माना --- 29.6 --- 14.4

जगदलपुर --- 29.6 --- 12.5

नवंबर में नहीं टूटा रिकार्ड

10 वर्षों के आंकड़े पर गौर करें तो साल 2014 में 27 नवंबर को न्यूनतम तापमान 11.1 डिग्री सेल्सियस रहा। यानी सबसे सर्द रात थी। इस साल यह रिकार्ड टूटने की संभावना थी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इस बार नवंबर में सबसे ठंडा दिन 28 और 29 नवंबर रहा। रात में तापमान 12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। ऐसे में अब सभी को दिसंबर में पड़ने वाली सर्दी का इंतजार है।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close