बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में बालिकाओं के लिए प्रोत्साहन के लिए सोमवार को राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर विभिन्न् कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके अलावा सम्मान समारोह भी आयोजित किया गया। इसमें 60 बालिकाओं को रेलवे ने सम्मानित किया। आयोजन तीनों मंडल में रखा गया था। इसके तहत बिलासपुर में 33 बालिकाओं का सम्मान किया गया।

बालिकाओं के सशक्तीकरण तथा प्रत्येक क्षेत्र में उनके लिए समानता की पृष्ठभूमि तैयार कर प्रोत्साहित करने 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में समय-समय पर बालिकाओं के प्रोत्साहन एवं कल्याण के लिए कई कार्य कर रही है।

इसी के तहत ही बालिका सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। शाम चार बजे रेल मंडल कार्यालय के सभाकक्षा में आयोजित इस समारोह में मंडल रेल प्रबंधक आलोक सहाय द्वारा शिक्षा, खेल, सांस्कृतिक, आर्ट एवं क्राफ्ट सहित विभिन्न् क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले रेलवे स्कूल, स्काउट व गाइड तथा एनसीसी के 33 बालिकाओं को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी प्रदीप मिश्रा सहित रेलवे स्कूलों के शिक्षक तथा कार्मिक विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे। इसके साथ तीनों रेल मंडल बिलासपुर, रायपुर एवं नागपुर में आयोजित समारोह में 40 स्कूली छात्राओं एवं 20 स्काउट एंड गाइड की वालंटियर सहित 60 बालिकाओं को का सम्मान किया गया।

मालूम हो कि रेलवे प्रोत्साहन एवं कल्याण के लिए समय- समय पर इस तरह के आयोजन करती है। जिनमें प्रमुख रूप से स्टाफ बेनिफिट फंड से रेलवे स्कूलों में पढ़ाई करने वाले रेलकर्मियों की आश्रित बालिकाओं को टैबलेट का वितरण, तकनीकी शिक्षा के लिए रेलकर्मियों के आश्रित बालिकाओं को छात्रवृत्ति, अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मान व साइकिल का वितरण शामिल है।

आनलाइन सेमिनार का आयोजन

सोमवार की सुबह नए भारत के निर्माण में बालिकाओं का योगदान विषय पर आनलाइन सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें रेलवे स्कूल बिलासपुर, शहडोल, भिलाई, नैनपुर एवं डोंगरगढ़ की बालिका एवं स्काउट एंड गाइड की बालिकाएं शामिल हुईं। सभी बालिकाओं ने इस विषय पर बहुत ही प्रभावी ढंग से अपने-अपने विचार प्रस्तुत किए।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local