बिलासपुर।कमाऊपूत जोन दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे को जल्द आधुनिक सुविधाओं से लैस वंदे भारत ट्रेन की सौगात मिल सकती है। रेलवे बोर्ड से इसके संकेत मिल रहे हैं। जोन कार्यालय में भी अफसरों के बीच इसे लेकर हलचल है। संभवत: इस माह के अंत तक सौगात की घोषणा की जा सकती है। बिना लोकोमोटिव इंजन के ट्रैक पर दौड़ने वाली इस ट्रेन की सुविधा मिलने का जोन को भी इंतजार है। रेलवे से ज्यादा यात्री इसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं। दरअसल यह ट्रेन कई तरह की अत्याधुनिक तकनीक से लैस है। इसके परिचालन से उद्देश्य के मुताबिक रेल सेवा बेहतर होगी। केंद्रीय बजट में अगले तीन साल में नई पीढ़ी की 400 वंदे भारत ट्रेनें विकसित करने की घोषणा की गई थी। इस घोषणा के बाद से माना जा रहा था कि कमाऊपूत जोन की अनदेखी नहीं होगी। यहां भी कम से कम दो वंदे भारत ट्रेन मिलेगी। पर दो तो फिलहाल मुश्किल नजर आ रहा है।

लेकिन एक ट्रेन मिलना लगभग तय हो चुका है। हालांकि दो महीने से इसे लेकर किसी तरह की सुगबुगाहट नहीं थी। पर कोच निर्माण का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। इसी बीच रेलवे बोर्ड से संकेत मिल रहे हैं कि वंदे भारत ट्रेन के लिए कुछ रेलवे की सूची तैयार की गई है। इसमें दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन का नाम शामिल है। यह जानकारी मिलने के बाद जोन कार्यालय में हलचल नजर आ रही है। सूचना मिल रही है कि बोर्ड ने इसका निर्धारण कर दिया है। पर इस पर अंतिम मुहर नहीं लगी है। हालांकि निर्णय के साथ-साथ संबंधित जोन से चर्चा होगी। इसके बाद हरी झंडी मिलने की उम्मीद है।

यह है खासियत

वंदे भारत ट्रेन की शुरुआत भारत में 2019 में हो चुकी है। इसे देश में ही विकसित किया गया है। इस ट्रेन की क्षमता 1,128 यात्रियों की होती है। इसके अलावा ट्रेन की सीटें आरामदायक हैं। इसमें सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली, सीसीटीवी कैमरे, आटोमेटिक स्लाइडिंग डोर और वैक्यूम आधारित बायो टायलेट्स जैसी सुविधाएं हैं। आपात स्थिति में यात्रियों को आसानी से सुरक्षित बाहर निकाला जा सकता है। कोच में चार आपातकालीन खिड़कियां लगी हैं ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close