बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

दर्जनभर मामलों के आरोपित व आदतन बदमाश ने अपने साथियों के साथ बेलगहना क्षेत्र के खोंगसरा में शुक्रवार की रात दो-तीन युवकों की जमकर पिटाई कर दी। लेकिन, जब ग्रामीणों की भीड़ जुटने लगी, तब आरोपित व उसके साथी स्कार्पियो से भागने लगे। इस बीच उनकी गाड़ी खेत में फंस गई। इसके बाद हमलावर जंगल में जाकर छिप गए। पुलिस ने वाहन को जब्त कर आरोपितों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार बिलासपुर के 27 खोली निवासी आदतन अपराधी विक्रम सिंह अपने साथियों के साथ शुक्रवार की रात बेलगहना क्षेत्र के खोंगसरा आमागोहन पहुंचा। यहां वह दो-तीन युवकों को रोककर किसी अनजान व्यक्ति के बारे में जानकारी लेने लगा। लेकिन, युवकों ने जानकारी नहीं होने की बात कही। इस पर विक्रम व उसके साथियों ने ग्रामीण युवकों पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। विवाद व शोर-शराबा सुनकर ग्रामीणों की भीड़ जुटने लगी। इतने में हमलावर स्कार्पियो में सवार होकर भागने की कोशिश करने लगे और गाड़ी को अनजान रास्ते में घुसा दिए। इसके चलते उन्हें दो बार रास्ता बदलना पड़ा। वहीं ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना पुलिस की डायल 112 को दे दी थी। लिहाजा, पुलिस भी उनकी तलाश करती रही। इस दौरान हमलावर युवक स्कार्पियो का सायरन बजाते हुए भाग रहे थे। आखिर में उन्हें रास्ता नहीं मिला और उन्होंने स्कार्पियो को खेत में घुसा दिया। पुलिस जब मौके पर पहुंची, तब स्कार्पियो क्षतिग्रस्त मिली। वहीं सवार हमलावर जंगल की ओर भाग निकले थे। पुलिस ने इस मामले में राखड़पार निवासी अमरलाल साहू पिता रामखिलावन की रिपोर्ट पर विक्रम सिंह व साथियों के खिलाफ धारा 341, 294, 323, 506, 427, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

स्कार्पियो से हुई आदतन अपराधी की पहचान

अपनी शिकायत में ग्रामीण युवक ने पुलिस को बताया कि हमलावर युवक स्कार्पियो में सवार थे और एक मुख्य आरोपित अपना नाम विक्रम सिंह बता रहा था। इस बीच पुलिस ने स्कार्पियो नंबर के आधार पर तस्दीक की, तब पता चला कि स्कार्पियो 27 खोली निवासी मुकेश सिंह ठाकुर के नाम पर है। इसके आधार पर ही पुलिस ने विक्रम सिंह की पहचान की। हमलावरों ने आहत युवक की एक्टिवा में भी तोड़फोड़ कर दी थी।