बिलासपुर। Political News: मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक डा कृष्णमूर्ति बांधी के खिलाफ सार्वजनकि रूप से अनर्गल टिप्पणी करना मल्हार मंडल भाजपा के महामंत्री राजकुमार वर्मा को भारी पड़ गया है। शुक्रवार को जिला भाजपाध्यक्ष रामदेव कुमावत ने अनुशासन का डंडा लहराते हुए वर्मा को महामंत्री पद से तत्काल प्रभाव से मुक्त कर दिया है। जिलाध्यक्ष की इस कार्रवाई से मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मंडलों के उन पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं में हड़कंप मच गया है जो पार्टी के दिग्गज नेताओं के खिलाफ लामबंद करने में भरोसा करते आ रहे हैं।

राज्य की सत्ता से बेदखली के बाद भाजपा के दिग्गजों ने पार्टी अनुशासन को गंभीरता से लेना शुरू किया है। ऐसे कार्यकर्ता जो अनुशासित हैं और पार्टी के प्रति अपनी जवाबदारी कर्मठता के साथ निभा रहे हैं उनको तव्वजो देना शुरू किया है। अनुशासनहीनता करने वालों को बाहर का रास्ता दिखाने या फिर अनुशासन में रहने की हिदायत भी दी जा रही है। इसी कड़ी में मस्तूरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मल्हार मंडल के महामंत्री वर्मा को अनुशासनहीनता का खामियाजा भुगतना पड़ा।

जानकारी के अनुसार मस्तूरी विधायक डा बांधी के खिलाफ सार्वजनिक रूप से की गई अनर्गल टिप्पणी के कारण जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत ने वर्मा को पद से हटा दिया है। इस संबंध में प्रदेश भाजपा सहित जिले के आला नेताओं को भी निर्णय से अवगत करा दिया है। चर्चा तो इस बात की भी हो रही है कि आला नेताओं की सहमति के आधार पर ही जिलाध्यक्ष ने अनुशासन का डंडा लहराया है।

जिले में पहली बड़ी कार्रवाई

अनुशासनहीनता के आरोप में जिले में इसे पहली बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। जिला भाजपा की इस कार्रवाई के पीछे कार्यकर्ताआंे और पार्टी पदाधिकारियों को अनुशासन का पाठ पढ़ाना और दायरे में रहने का राजनीतिक संदेश देना भी माना जा रहा है। जाहिर है इस बड़ी कार्रवाई के पीछे जिले के दिग्गज भाजपाइयों की मौन सहमति भी मानी जा रही है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local