बिलासपुर। Bilaspur News: जोनल स्टेशन में लगी बाटल क्रशर मशीन हटा दी गई है। कोरोना काल में यात्रियों की संख्या कम होने के कारण मशीन की उपयोगिता कम हो गई थी। हालांकि अब स्थिति पहले से सामान्य हो गई है और यात्री भी पहुंचने लगे हैं। इसके बाद भी मशीन नहीं लगी है। इसके कारण खाली बाटल स्टेशन में इधर- उधर बिखरे पडे रहते हैं। इसके कारण स्टेशन में अव्यवस्था नजर आती है। इसके साथ ही सफाई कर्मचारी प्रतिदिन भारी मात्रा में बाटल उठाकर फेंकते हैं।

पर्यावरण संरक्षण और स्टेशन को साफ- सुथरा रखने के लिए रेलवे ने प्लेटफार्म एक में दो मशीन लगाई थी। इसकी उपयोगिता बताने के लिए बकायदा जगह- जगह बोर्ड भी लगाए गए हैं। यात्री इसकी उपयोगिता समझने लगे थे। हालांकि इसी बीच कोरोना वायरस की दस्तक हुई और ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया। स्टेशन में सन्न्ाटा पसर गया। लिहाजा ऐसी स्थिति में मशीन भी हटाकर सुरक्षित जगह पर रख दी गई।

जुलाई से ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ। करीब पांच महीने से यात्रियों की चहल- पहल स्टेशन में बढ़ गई है। स्टाल भी खुल गए हैं। जहां से पानी बाटल खरीदकर उपयोग कर रहे हैं। लेकिन इसके उपयोग के बाद पटरी में या फिर कूडादान में फेंक दिया जाता है। जबकि इस मशीन में डालने के बाद नष्ट हो जाते हैं।

मशीन में कटने के बाद टुकड़े को बेचकर पैसे कमाने की योजना भी है,लेकिन पांच महीने से मशीन नहीं होने के कारण खाली बाटल बिखरे रहते हैं। इसकी वजह से स्टेशन में अव्यवस्था भी नजर आती है। हालांकि रेल प्रशासन का कहना है कि एक मशीन को यात्री प्रतीक्षालय में रखी गई है। वहां इसकी उपयोगिता उतनी नहीं है। दूसरी मशीन अब तक नहीं लगी है।

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस