बिलासपुर। Bilaspur News: कोरबा ओपनकास्ट खदान में सरफेस मशीन व भूमिगत खदान यूनिवर्सल ड्रील मशीन आपरेटर का कैडर जल्द निर्धारित किया जाएगा। लीगल इंस्पेक्टर को पदोन्नाति देकर डिप्टी चीफ लीगल इंस्पेक्टर बनाया जाएगा। कोल प्रबंधन के साथ हुई श्रमिक संघ की स्टैंडराइजेशन कमेटी (मानकीकरण समिति) की बैठक में इस पर सहमति बन गई। कुछ मुद्दों पर उप समिति की बैठक आयोजित कर निर्णय लिया जाएगा।

लंबे अरसे बाद हुई स्टैंडराइजेशन कमेटी की बैठक की अध्यक्षता कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने की। प्रबंधन के समक्ष श्रमिक संघ प्रतिनिधियों ने कई प्रस्ताव रखे। बताया जा रहा है कि श्रमिक नेताओं में विरोधाभाष होने की वजह से कुछ मुद्दों पर सहमति नहीं बन सकी। इस पर प्रबंधन ने कहा कि उपसमिति के समक्ष इन सभी प्रस्ताव को रख कर निर्णय लिया जाएगा। बैठक में प्रमुख रूप से कैडर व पदोन्नाति के मुद्दे पर सहमति बनी। लीगल इंस्पेक्टर का प्रमोशन लटका हुआ है।

इसकी मुख्य वजह उच्च पद नहीं होना था। इस पर तय किया गया कि एलएलबी कोर्स करने पर लीगल इंस्पेक्टर को तीन साल बाद पदोन्नाति दी जाएगी और डिप्टी चीफ लीगल इंस्पेक्टर ए-वन होगा। इसी तरह स्टाफ नर्स को कपड़ा भत्ता के रुप में 4500 रूपये मिलता है, इसमें एक हजार रूपये बढोत्तरी का प्रस्ताव रखा गया, पर मतभिन्नाता की वजह से इस पर सहमति नहीं बन सकी। यह मामला भी उपसमिति के समक्ष रखा जाएगा। एचएमएस महामंत्री नाथूलाल पांडेय ने बताया कि ओपनकास्ट खदान में कोयला कटिंग कर निकालने के लिए सरफेस माइनर मशीन लगी हुई है, इसी तरह भूमिगत खदान में यूनिवर्सल ड्रील मशीन (यूडीएम) है।

इन दोनों मशीन के आपरेटरों के लिए अभी तक कैडर का निर्धारण नहीं हो सका था, पर अब इन मशीनों के आपरेटर का कैडर जल्द बनाया जाएगा। प्रबंधन ने सहमति जता दी है और जल्द ही प्रबंधन इस पर जल्द ही सर्कुलर जारी कर सभी आनुषांगिक कंपनी को भेजेगा। इसके साथ ही दिव्यांगों को नौकरी देने पर भी प्रबंधन ने कहा कि शीघ्र ही निर्णय लेकर आदेश जारी किया जाएगा। बैठक में सीआईएल के निदेशक, सभी आनुषांगिक कंपनी के सीएमडी, निदेशक व जेबीसीसीआई सदस्य भारतीय मजदूर संघ से सुरेंद्र पांडेय, सुधीर घुरड़े, एचएमएस से नाथूलाल पांडेय, एसके पांडेय, एटक से रमेंद्र कुमार व सीटू से डीडी रामानंदन समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

चयन तिथि से मानी जाएगी वरियता: सुरेंद्र

भारतीय मजदूर संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी सुरेंद्र मिश्रा ने बताया कि विभागीय परीक्षा के माध्यम से जिन कामगारों का चयन किया जाता था, अभी तक नियुक्ति तिथि से वरियता माना जाता था। इस नियम में बदलाव करते हुए अब चयन तिथि से वरियता मानी जाएगी, यानी मेरिट सीनियरिटी लागू रहेगा। इसी तरह मोनेटरी कंपनशेषन (आर्थिक क्षतिपूर्ति) पाते हुए यदि कोई महिला पुनर्विवाह कर लेती हो तो उस हालत में भी आर्थिक क्षतिपूर्ति मिलते रहेगी। ठेका मजदूर भी सीएमपीएफ का मेम्बर होगा। पोस्ट रिटायरमेंट मेडिकल स्कीम का सदस्य बनने के लिए 31 मार्च तक तिथि बढाने पर सहमति गई है। इस दौरान शेष राशि जमा कर कर्मी सदस्य बन सकेंगे। डिप्लोमा होल्डर कामगार को नोशनल सीनियरिटी प्रदान करने का मुद्दा खत्म कर दिया गया था, पर अब इस पर अगली बैठक में चर्चा होगी।

सिंगरौली में होगी बैठक

कोयला कर्मियों की समस्याओं को लेकर उपसमिति की बैठक सिंगरौली में आयोजित की जाएगी। 20 मार्च को होने वाली इस बैठक में कई महत्वपूर्ण मुद्दे पर निर्णय लेने की संभावना जताई जा रही है। प्रबंधन ने कहा है कि इस दौरान कर्मियों की समस्याओं पर भी परीक्षण कराया जाएगा, ताकि बैठक के दौरान चर्चा करने में किसी तरह की दिक्कत न हो। बैठक के संबंध में मार्च माह में एजेंडा जारी कर सूचना दी जाएगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags