बिलासपुर। (नईदुनिया प्रतिनिधि) छात्रों के साथ ही पालकों के लिए यह अच्छी खबर हो सकती है। जाति व आय प्रमाण पत्र बनवाने के लिए अब पटवारी व एसडीएम कार्यालय का चक्कर काटना नहीं पड़ेगा। शिक्षक अब छात्रों के घर-घर जाएंगे व आय व जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए जरूरी दस्तावेज इकठ्ठा करेंगे। दस्तावेज एकत्रित करने के बाद पटवारी से दस्तावेजों की पड़ताल कराएंगे व उनका हस्ताक्षर लेकर एसडीएम कोर्ट में जमा करेंगे। एसडीएम कोर्ट से हस्ताक्षर होने के बाद इसे स्कूल में छात्रों को वितरित करेंगे।

शिक्षकों की जिम्मेदारी

राज्य शासन की मंशा है कि बच्चे स्कूलों में पढ़ाई करे। जाति व आय प्रमाण पत्र के लिए कार्यालयों का अनावश्यक चक्कर काटना ना पड़े। जाति व आय प्रमाण पत्र के लिए जरूरी दस्तावेज जुटाने और इकठ्ठा करने का काम शिक्षकों को दिया गया हैं। शिक्षकों की जिम्मेदारी रहेगी। शासन ने शिक्षकों को इसके लिए सीधे जिम्मेदार ठहराया है। बीते दिनों भेंट मुलाकात कार्यक्रम में तखतपुर पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सामने ग्रामीणों ने जाति और निवास प्रमाण पत्र नहीं बनने की शिकायत की थी।

इसके बाद जिले के तखतपुर ब्लाक में छात्र-छात्राओं के जाति व आय प्रमाण पत्र बनाने की व्यवस्था के निर्देश सीएम ने एसडीएम को दिए थे। एसडीएम के निर्देश को इसी नजरिए से देखा जा रहा है। एसडीएम तखतपुर ने सर्व संकुल समन्वयक (सीएसी) को निर्देश जारी किया है। इसमें उनको सभी शिक्षकों को छात्रों के घर-घर जाकर जाति और निवास प्रमाण-पत्र बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज इकट्ठा करने के बाद फार्म भरवाने के निर्देश दिए है।

अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व, तखतपुर द्वारा जारी आदेश में हिदायत दी गई है कि किसी तरह की बहानेबाजी नहीं चलेगी। पालक नहीं आते, दस्तावेज नहीं मिलने के बहाने को नहीं सुना जाएगा। जाति और निवास प्रमाण-पत्र बनाने के लिए सभी शिक्षकों को टारगेट दिया गया है। इस निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त नहीं करने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की अनुसंशा करने की बात कही गई है।

कलेक्टर करेंगे सीधी निगरानी

तखतपुर के अलावा जिले के विभिन्न् ब्लाकों में जाति व आय प्रमाण पत्र बनाने की व्यवस्था कुछ इसी तरह रहेगी। सीएम के निर्देश का असर जिले के सभी ब्लाकों में दिखाई देगा। स्कूली छात्रों से दस्तावेज इकठ्ठा करने के बाद शिक्षक जाति व आय प्रमाण पत्र बनवाने का काम करेंगे। कलेक्टर इसकी निगरानी करेंगे।

Posted By: Manoj Kumar Tiwari

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close