बिलासपुर । भाजपा की संभागीय बैठक में पांच जिलों के पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी रही। दिग्गज नेताओं ने समझाइश देते हुए कहा कि निकायों में काबिज होने के लिए हर हाल में आपसी मतभेद को दूर करना होगा।

पदाधिकारियों से सीधी चर्चा के दौरान प्रमुख नेताओं ने कहा कि आप लोगों को ही उम्मीदवार तय करना है। उम्मीदवारी चयन में आप लोगों की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। आपस में अगर तू-तू मैं-मैं करेंगे तभी गुटबाजी होगी। आम कार्यकर्ता हमारे साथ हैं। मतदाता भी हमारी ओर आशा भरी नजरों से देख रहे हैं। जरूरत इस बात की है कि हम सब एक रहें।

बुधवार को करबला रोड स्थित जिला भाजपा कार्यालय में संभागीय बैठक हुई। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष व बिल्हा के विधायक धरमलाल कौशिक ने निकाय चुनाव के लिए चुनावी मुद्दे का खुलासा करते हुए कहा कि राज्य सरकार के नौ महीने के कार्यकाल का मूल्यांकन आम जनता ने अच्छी तरह कर लिया है।

कांग्रेस वादाखिलाफी कर सत्ता में आई है। नौ महीने के कामकाज को लेकर जनता के बीच जाना है। लोकसभा चुनाव परिणाम से यह स्पष्ट हो गया है कि प्रदेश की जनता का कांग्रेस की सरकार से मोह भंग हो चुका है। उन्होंने कहा कि जब तक हमारी सरकार प्रदेश में रही निकायों को विकास कार्य के लिए फंड की कभी कमी महसूस नहीं हुई। जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार काबिज हुई है निकायों की हालत खस्ता है। इन सब बातों को लेकर हमें मतदाताओं के बीच जाना है।

प्रदेश भाजपा नगरीय निकाय चुनाव प्रभारी अमर अग्रवाल ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि बिलासपुर नगर निगम सीमा में वृद्धि के बीच आम जनता की कम और कांग्रेस को अपनी राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश ज्यादा दिखाई दे रही है। राजनीतिक लाभ के खातिर इस तरह का निर्णय लिया गया है। मतदाता सूची पुनरीक्षण के दौरान गड़बड़ी भी सामने आ रही है।

एक वार्ड के मतदाता को दूसरे वार्ड की मतदाता सूची में शिफ्ट करने की शिकायत भी मिल रही है। लोकसभा चुनाव में हमारे कार्यकर्ताओं ने जो मेहनत की उसका नतीजा हम सबके सामने है। लोकसभा चुनाव परिणाम को देखकर सत्ताधारी दल कांग्रेस घबरा गई है। निकायों में हमारा कब्जा होना तय है। जरूरत इस बात की है कि हम सब एक रहें। पार्टी जिसे टिकट दे उसे जिताने के लिए हम सबको जुटना होगा।

बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद अस्र्ण साव ने कहा कि निकाय चुनाव के दौरान जहां मेरी जरूरत महसूस होगी संगठन के निर्देश पर उन सभी जगह जाऊंगा जहां मुझे भेजा जाएगा। आपसी एकजुटता के दम पर हम निकायों में काबिज होंगे।


टिकट वितरण को हुई बात

बैठक के दौरान बिलासपुर व मुंगेली जिले के पदाधिकारियों को छोड़कर जांजगीर-चांपा, रायगढ़ व कोरबा जिले के पदाधिकारियों ने खुलकर अपनी बात रखी। पदाधिकारियों ने दोटूक कहा कि उम्मीदवारी चयन में मंडल के पदाधिकारियों की रायशुमारी लेनी चाहिए। मंडल से नाम ऊपर जाना चाहिए।

कुछ पदाधिकारियों ने प्रत्याशी चयन के लिए समिति गठित करने की बात कही। दिग्गजों के बीच एक और बात सामने आई। चुनिंदा पदाधिकारियों ने उम्मीदवारी चयन से पहले जीतने वाले चेहरे को लेकर सर्वे कराने पर जोर दिया।