बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। पचपेड़ी थाना क्षेत्र में स्वजन अपनी नाबालिग बेटी की शादी करवा रहे थे। बाराती भी पहुंच गए। नाबालिग दुल्हन सात फेरे लेने ही वाली थी कि जिला बाल संरक्षण इकाई की टीम पहुंच गई। शादी रोकने के लिए कहने पर दोनों पक्ष के लोग हंगामा मचाने लगे। अधिकारियों ने किसी तरह समझाकर शांत कराया।

तीन दिसंबर की शाम जिला बाल संरक्षण इकाई की टीम को सूचना मिली कि पचपेड़ी थाना क्षेत्र में 16 साल किशोरी की शादी हो रही है। सूचना मिलने पर बाल संरक्षण इकाई व चाइल्ड लाइन की टीम पुलिस के साथ विवाह स्थल पर पहुंची। टीम ने देखा कि किशोरी के घर के पास भीड़ लगी है। वहीं, आंगन में नाबालिग दुल्हन सात फेरे लेने के लिए मंडप पर बैठी थी। अधिकारियों ने शादी रोकने की बात कही। यह सुनकर वहां मौजूद लड़का व लड़की पक्ष के लोगों में हड़कंप मच गया।

शादी की रस्मों को रुकवाकर अधिकारियों ने दुल्हन की उम्र के बारे में पूछताछ की। आधार कार्ड और स्कूल प्रमाण पत्र से जन्म तिथि की जांच की गई। जांच में पता चला कि दुल्हन की उम्र मात्र 16 साल और दूल्हा का उम्र 18 साल है। इसके बाद भी लड़का व लड़की के माता-पिता शादी करने पर अड़े रहे। अधिकारियों ने बाल विवाह संबंधी नियम कानून के बारे में समझाइश दी। भारी मशक्कत करने के बाद दोनों पक्ष को समझाकर बाल विवाह रोका गया।

बारात आने के एक दिन पहले रुक गई शादी

एक अन्य मामले में जिला बाल संरक्षण इकाई व चाइल्ड लाइन टीम को तीन दिन पहले सूचना मिली कि सिरगिट्टी थाना क्षेत्र में नाबलिग की शादी हो रही है। चार दिसंबर को बारात आने वाली है। शनिवार की शाम जिला प्रशासन की टीम पुलिस बल के साथ लड़की के घर पहुंची। पता चला कि लड़की की उम्र 14 साल हैं। अधिकारियों ने परिवार के मुखिया को और लड़के के स्वजन को तत्काल बुलाया। दोनों पक्ष को एक साथ बैठाकर बाल विवाह नहीं करने के निर्देश दिए। शुस्र्आत में दोनों पक्ष मानने के लिए तैयार नहीं हो रहे थे। शादी में हुए खर्च के बारे में बोलने लगे। लेकिन अधिकारियों ने नियम-कानून का हवाला देते हुए बाल विवाह को रुकवा दिया।

क्या कहते हैं अधिकारी

पचपेड़ी क्षेेत्र में नाबालिग की शादी होने वाली थी। फेरे के लिए बैठ गई थी। घर जाकर शादी रुकवाई गई। इसकी तरह सिरगिट्टी थाना क्षेत्र में बाल विवाह को रोकने में सफलता मिली। दोनों पक्षों से शपथ पत्र लिया गया है।

पार्वती वर्मा, जिला बाल संरक्षण इकाई अधिकारी बिलासपुर

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close