बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रेंज के सभी जिलों में चिटफंड कंपनियों के फरार डायरेक्टरों को पकड़ने विशेष टीम बनाई जाएगी। इसके साथ ही आरोपितों की संपत्ति की जानकारी जुटाकर इसे कुर्क करने कार्रवाई तेज होगी। इस संबंध में शुक्रवार को वर्चुअल बैठक के दौरान आइजी ने रेंज के सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किया है।

पुलिस महानिरीक्षक बद्रीनारायण मीणा ने शुक्रवार को पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने सभी जिलों में चिटफंड कंपनियों के खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी ली। बैठक के दौरान उन्होंने सभी जिलों में फरार डायरेक्टरों की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम बनाने को कहा। उन्होंने डायरेक्टरों के राज्य और राज्य के बाहर स्थित अचल संपत्तियों की जानकारी जुटाने के निर्देश दिए हैं। इसे कुर्क कर निवेशकों के धन वापसी की प्रतिदिन समीक्षा किए जाने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें: Health Tips: कपालभाति योग अभ्यास करने से ठंड में शरीर को मिलेगी राहत

उन्होंने कहा कि स्थानीय एजेंटों के माध्यम से फरार डायरेक्टरों की जानकारी मिल सकती है। साथ ही उनकी संपत्ति के बारे में भी पता लगाया जा सकता है। संपत्ति की कुर्की कार्रवाई और कलेक्टर कार्यालय में प्राप्त शिकायतों के निराकरण के लिए अधिकारियों से चर्चा करने कहा गया। बैठक में सक्ती से गायत्री सिंह, कोरबा से अभिषेक वर्मा, जांजगीर-चांपा से अनिल सोनी, मुंगेली से प्रतिभा तिवारी, बिलासपुर से राहुल देव शर्मा, सारंगढ़-बिलाईगढ़ से महेश्वर नाग, रायगढ़ से दीपक मिश्रा, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही से अशोक वाडेगांवकर व आइजी कार्यालय में पदस्थ एएसपी दीपमाला कश्यप व डीएसपी माया असवाल मौजूद रहीं।

जिले में मिले हैं हजारों आवेदन

हाई कोर्ट के निर्देश के बाद जिला प्रशासन की ओर से निवेशकों से आवेदन मंगाया गया। इसमें हजारों लोगों अपने आवेदन जिला कार्यालय में जमा किए। इसके बाद सभी जिलों में आवेदन जांच के लिए विशेष टीम बनाई गई है। इसके माध्यम से पीड़ितों के रुपये लौटाने कार्रवाई शुरू की गई है। फरार डायरेक्टरों की संपत्ति कुर्क कर राशि लौटाई जाएगी।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close