बिलासपुर। Cheatfund Company Bilaspur: जिले के एक लाख 20 हजार निवेशकों को अपने जीवनभर की गाढ़ी कमाई का बड़ा हिस्सा मिलने का इंतजार है। ये ऐसे निवेशक हैं जिन्होंने अपने ही परिचितों के भरोसे अलग-अलग चिटफंड कंपनियों में ज्यादा ब्याज मिलने की लालच में राशि निवेश कर दिया। निवेशकों को क्या पता था कि कंपनियों से उसे धोखे में रखकर उनकी जमापूंजी लूट रही है। लालच और दिलासा देकर कंपनियां छत्तीसगढ़ के किसानों व ग्रामीणों से राशि जमा कराती रही और रातो रात कंपनी के दफ्तर में ताला जड़ फरार हो गई। छग के 30 लाख निवेशकों से 180 से अधिक कंपनियों ने 55 हजार करोड़ से ज्यादा की राशि लूट ली है। छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के निर्देश के बाद अब निवेशकों का भरोसा जागा है।

जिले में एक लाख 20 हजार निवेशकों की संख्या है जिनकी गाढ़ी कमाई का बड़ा हिस्सा कंपनियों ने डकार लिया है। छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के निर्देश के बाद राज्य शासन ने प्रदेशभर के कलेक्टरों को निर्देश देकर निवेशकों से आवेदन जमा कराने का निर्देश दिया था। निवेशकों के आवेदनों की छंटनी का काम किया जा रहा है जो अंतिम चरण में है। एक जानकारी के अनुसार जिले में एक लाख 20 हजार निवेशक हैं जिन्होंने जमा राशि वापसी के लिए आवेदन जमा किया है।

जिला प्रशासन ने निवेशकों के आवेदनों को चिटफंड कंपनीवार अलग करने का काम शुरू किया है। मसलन किस कंपनी में जिले के कितने निवेशकों ने कितनी रकम निवेश किया है। सूची बनाने के साथ ही इनके गांव का नाम और पूरा पता भी अलग से दर्ज किया जा रहा है। प्रशासनिक तेजी के बीच अब निवेशकों को अपनी राशि मिलने की उम्मीद जग गई है।

छग में कार्यरत चिटफंड कंपनियों की संख्या- 180

0 निवेशकों की संख्या- 30 लाख

0 अभिकर्ताओं की संख्या-एक लाख 60 हजार

0 पालिसी की संख्या- 30 लाख

0 कुल राशि- 55 हजार करोड़ स्र्पये

ये है प्रमुख चिटफंड कंपनियां

साईं प्रसाद,साईं प्रकाश,शुभ साईं,अनमोल,यालको,देव्यानी,यश,बीएन गोल्ड,बीएनजी,ग्लोबल,आरबीए,कोलकाता वियर,गुस्र्कृपा,गरिमा,बीएनजी इंडिया।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local