बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। पौने तीन साल बाद सोमवार से शहर की सड़कों पर फिर से सिटी बसें दौड़ने लगी हैं। महापौर रामशरण यादव, सभापति शेख नजीरुद्दीन, स्मार्ट सिटी के एमडी कुणाल दुदावत व आयुक्त वासु जैन ने छह रूटों की बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही नागरिकों को रियायती दर पर सफर करने की सुविधा एक बार फिर से मिल गई है।

नगर निगम के सिटी बस डिपो में 50 सिटी बसें हैं। करीब पौने तीन साल पहले ठेका कंपनी ने बसों का संचालन करने से हाथ खड़े कर दिए थे। जिला अर्बन सोसाइटी ने इन बसों को फिर से शुरू कराने के लिए भारी जद्दोजहद की। लेकिन कोई भी कंपनी बस चलाने को तैयार नहीं हो रही थी। ऐसे में महापौर ने पब्लिक सुविधा से जुड़ी सिटी बसों को फिर से सड़क पर दौड़ाने की पहल की। उनके निर्देश पर तत्कालीन निगम आयुक्त अजय त्रिपाठी लगातार कई कंपनियों से बसों का ठेका लेने के लिए संपर्क करते रहे। इस बीच उनका तबादला हो गया। उनके स्थान पर आइएएस अफसर कुणाल दुदावत ने आयुक्त का कार्यभार संभाला।

महापौर ने उन्हें भी अपनी मंशा से अवगत कराया और बताया कि जब यहां सिटी बसें चलती थीं, तब नागरिकों को बड़ी राहत मिलती थी। सिटी बसें बंद होने से अन्य वाहनों में शहर में ही सफर करने में 100-150 रुपये लग जाते हैं। इससे पब्लिक की जेब पर ज्यादा भार पड़ रहा है। आइएएस अधिकारी दुदावत ने सिटी बसों को फिर से शुरू कराने को एक मिशन की तरह लिया। उन्होंने प्रदेश की कई कंपनियों से संपर्क साधा। अंत में रायपुर की कंपनी सन मेगा वेंचर्स ने बसों का संचालन करने का जिम्मा अपने हाथों में ले लिया है। पहले जो कंपनी बसें चलवा रही थीं, उस कंपनी के सारे कर्मचारी चले गए हैं। अलबत्ता, नई कंपनी के ड्राइवर-कंडक्टर को रूटों की जानकारी देने के लिए पिछले दिनों बसों का ट्रायल कराया गया था।

सभापति ने संभाली स्टेयरिंग

सिटी बस को हरी झंडी दिखाने के बाद सभापति शेख नजीरुद्दीन ने एक बस की स्टेयरिंग संभाली। बगल की सीट पर महापौर रामशरण यादव बैठे थ्ो। अंदर की सीटों पर एमडी कुणाल दुदावत, आयुक्त वासु जैन, एमआइसी सदस्य राजेश शुक्ला, अजय यादव, परदेशी राज, मनीष गढ़ेवाल, पार्षद सुरेश टंडन, सीताराम जायसवाल, श्याम पटेल बैठे हुए थे। सभापति ने सभी को बैठाकर पूरे डिपो की सैर कराई।

90 दिन में चलने लगेंगी सभी बसें

नगर निगम की 50 में से छह बसों का संचालन शुरू हो गया है। ठेका कंपनी के डायरेक्टर अरुण उपाध्याय ने बताया कि एग्रीमेंट के अनुसार 45 दिन के भीतर 25 और बसों को शुरू किया जाएगा। फिर 45 दिनों के अंदर श्ोष 19 बसें सड़कों पर दौड़ने लगेंगी। पौने तीन साल से एक ही जगह पर खड़े रहने से बसों की हालत खराब हो गई है। इसलिए उसे सुधरवाने में थोड़ा समय लग रहा है।

इन रूटों पर दौड़ रहीं बसें

- रेलवे स्टेशन से खूंटाघाट

- रेलवे स्टेशन से कोटा

- रेलवे स्टेशन से तखतपुर

- रेलवे स्टेशन से मल्हार

- रेलवे स्टेशन से खूंटाघाट

- रेलवे स्टेशन से बिल्हा

क्या कहते हैं अधिकारी

शहर में सिटी बस का संचालन फिर से शुरू हो गया है। अभी 6 रूटों पर बसें चल रही हैं। तीन माह के अंदर पहले की तरह सभी रूटों पर 50 बसें दौड़ने लगेंगी। सिटी बस शुरू होने से गरीब और मध्यम वर्ग के नागरिकों के अलावा कामकाजी लोगों को बड़ी राहत मिली है। अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को भी राहत पहुंचाने का हमारा प्रयास रहता है।

रामशरण यादव, महापौर

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close