बिलासपुर। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. अनिल श्रीवास्तव शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान ज्यादातर स्वास्थ्य केंद्रों से स्टाफ गायब मिले और उपस्थिति रजिस्टिर में गायब स्टाफ के हस्ताक्षर मिला है। इस दौरान सीएमएचओ ने नदारत स्टाफ को मुख्य कार्यालय तलब किया है।

शनिवार को सीएमएचओ डा. अनिल श्रीवास्तव टीम के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सागर, बेलपान, जरौंधा,दैजा और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तखतपुर, सिटी डिस्पेंसरी सकरी का भ्रमण किया गया। इस दौरान सकरी सिटी डिस्पेंसरी में पांच स्टाफ के नाम उपस्थिति पंजी में दर्ज हैं, लेकिन मौके में केवल दो ही स्टाफ उपस्थित पाए गए। अनुपस्थित पाए गए स्टाफ के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सागर में उपस्थिति पंजी में नौ नाम दर्ज पाए गए, किंतु मौके में केवल एक ही स्टाफ नर्स उपस्थित पाई गई। डाक्टर, आरएमए सहित बाकी स्टाफ नदारद पाए गए। बेलपान में चिकित्सक अनुपस्थित पाए गए। बाकी अन्य स्टाफ उपस्थित थे। बेलपान में टीकाकरण केंद्र का भ्रमण किया गया। जिसमें 20 मरीजों को आज कोविड टीकाकरण किया जाना पाया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दईजा में सहायक ग्रेड 3 दो दिनों से अनुपस्थित पाए गए । कोविड टीकाकरण का निरीक्षण किया गया।

मौके पर सुपरवाइजर उपस्थित पाए गए । सेक्टर सुपरवाइजर को कहा गया कि एक-एक गांव को लक्ष्य बनाकर शत-प्रतिशत कोविड टीकाकरण करावे। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जरौंधा में प्रसव रजिस्टर का अवलोकन किया गया, जिसमें पाया गया है कि सभी गर्भवती माताओं का हिमोग्लोबिन परीक्षण का विवरण दर्ज नहीं है। जिस पर लैब टेक्नीशियन को गर्भवती माताओं का आवश्यक लैब टेस्ट करने के निर्देश दिए गए। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तखतपुर में फिजियोथैरेपिस्ट अनुपस्थित पाई गई। कोविड-टीका करण कक्ष का निरीक्षण किया गया। कोल्डचेन कक्ष का भी निरीक्षण किया गया। जिसमें 15 जगहों पर कोविड- वैक्सीन वितरित किया जाना पाया गया। टीबी मरीजों के खखार जांच की जानकारी ली गई । जिसमें पाया गया कि वयस्क ओपीडी का लगभग 10 प्रतिशत प्रतिमाह बलगम परीक्षण किया जाना होता है। किंतु सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में केवल 2 से 3 प्रतिशत ही बलगम जांच होना किया जा रहा है।

नए टीबी मरीजों की खोज अपेक्षाकृत कम की जा रही है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तखतपुर में प्रसव के लिए अतिशीघ्र ओटी प्रारंभ किए जाने के लिए लैब टेक्नीशियन को ओटी का कल्चर टेस्ट कराने के निर्देश दिए गए। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तखतपुर में स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं निश्चिेतना रोग विशेषज्ञ की पोस्टिंग होने के कारण वहां शीघ्र गर्भवती महिलाओं के लिए सिजेरियन प्रसव सुविधा प्रारंभ किया जाना है। इस के लिए सभी आवश्यक तैयारियां शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए गए।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close