बिलासपुर। शासकीय महाविद्यालय कोतरी के राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वावधान में स्वामी विवेकानंद के स्मरण दिवस के अवसर पर स्वयं सेवकों एवं गोद ग्राम मसना के ग्रामीणों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से पौधा रोपण के लिए पौधा वितरण किया गया।

प्राचार्य डा. डीएस मिश्रा ने कहा कि पर्यावरण की स्थिति बिगड़ती जा रही है पर्यावरण को बचाने के लिए हम सबको मिलकर इस पर कार्य करना होग ।आने वाले समय में जल की कमी होने वाली है। इस विकट परिस्थितियों का सामना हम सबको करना पड़ सकता है, इसलिए हम सब को ज्यादा से ज्यादा पौधा लगाना चाहिए जो जल के स्रोत को बचाया रखता है। कार्यक्रम अधिकारी ने ग्रामीणों को बताया कि एक जुलाई 2022 से सरकार ने सिंगल यूज पालिथीन को बंद कर दिया गया है। प्राचार्य डी एस मिश्रा एवं महाविद्यालय के अधिकारी एवं कर्मचारी तथा जनभागीदारी समिति के सदस्य रघुराज जांगड़े के द्वारा पौधारोपण किया गया सना में सरपंच नरेंद्र साहू एवं प्रधानपाठक, शिक्षकों ने विद्यालय परिसर में पौधा लगाया और ग्राम के लोगों को पौधा वितरण किया गया। बिचारपुर हनुमान मंदिर में नीम और आंवला का पौधा रोपण किया। कोतरी एवं मसना में 374 पौधे का वितरण किया। इस कार्यक्रम में पं. भूपेंद्र कुमार कुमार पाठक ,राम चरण, छेदी राजपूत, सुरेश कुमार राजपूत, जगदीश कुलमित्र, राजेश घोषले, लेख राम साहू ,नवीन ठाकुर ,गोविंद साहू , अमित कश्यप ,यज्ञ नारायण कश्यप , ताम्रध्वज कश्यप ,मंदाकिनी कश्यप ,यामिनी कश्यप, लिना कश्यप अन्य उपस्थित रहे।

प्रकृति के संतुलन के लिए पौधारोपण: आदित्य

शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नवीन भवन प्रांगण में पौधारोपण कर जागरूकता का संदेश दिया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ब्लाक कांग्रेस कमेटी कोटा के अध्यक्ष आदित्य दीक्षित सहित अन्य रहे। उन्होंने कहा कि प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने के लिए पौधे लगाएं। मानव को प्रारंभ से प्रकृति द्वारा जो कुछ प्राप्त होता रहा है। उसे निरन्तर प्राप्त करते रहने के लिए पौधारोपण अति आवश्यक है। कार्यक्रम में केआर साहू अध्यक्ष शाला प्रबंधन विकास समिति शासकीय कन्या विद्यालय कोटा प्राचार्य आशा, रिद्धि सोना अग्रहरि पार्षद, कुसुमलता सक्सेना, प्रदीप गुप्ता, प्रदीप परमार, रामेश्वरी रजक, घनश्याम तिवारी विकास तिवारी के द्वारा नए भवन प्रांगण में कृषि शिक्षक पंकज गंधर्व के सहयोग से पौधारोपण किया गया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close