बिलासपुर। Bilaspur News: प्रदेश के गृह, जेल एवं लोक निर्माण विभाग मंत्री ताम्रध्वज साहू का कहना है कि प्रदेश में लोक निर्माण विभाग की सड़कों को लेकर कोई शिकायत नहीं है। सड़कों को दुस्र्स्त करने विभाग के अफसरों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। बिलासपुर में सीवरेज व अमृत मिशन योजना के तहत सड़कों की दुर्दशा हुई है। राज्य में एनएच और एनएचआइ की सड़कों के निर्माण को लेकर शिकायत मिली हैं जिसे केंद्र सरकार को देखना चाहिए।

शहर प्रवास के दौरान छत्तीसगढ़ भवन में उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश में किसी भी शहर में पीडब्ल्यूडी की सड़कों की एक साल में कहीं भी शिकायत नहीं मिली है। इससे पहले सड़कों को लेकर तरह-तरह की शिकायतें मिलती रही हंै और विभाग गड़बड़ी के मामले में सुर्खियों में रहता था। लेकिन अब वैसी स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि बिलासपुर में सीवरेज व अमृत मिशन के चलते खोदो-पाटो चल रहा है, जिसके चलते सड़कों की खराब हालत को लेकर शिकायत है।

लेकिन प्रदेश के बाकी किसी जगह में जर्जर सड़क नहीं है। जेलों में मुआवजा राशि बांटने में गड़बड़ी से उन्होंने इंकार किया है। उन्होंने कहा कि शिकायत मिलने पर जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश में महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार को लेकर उन्होंने कहा कि राज्य में हर एक पीड़िताओं को न्याय दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। महिला की शिकायतों पर गंभीरता से कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

सिविल लाइन थाने में महिला की शिकायत पर जानकारी जुटाई जा रही है। साथ ही पुलिस को कार्रवाई करने कहा गया है। गृहमंत्री साहू ने भाजपा सरकार में लाठीचार्ज की घटना को लेकर कहा कि जांच कहां तक पहुंची है और प्रकरण में क्या स्थिति है इसकी जानकारी ली जाएगी। इस मामले में उन्होंने एडिशनल एसपी नीरज चंद्राकर की पोस्टिंग के सवाल पर टालमटोल करते हुए कहा कि निलंबन, बहाली एक प्रक्रिया है।

सरकार पर प्रदेश की जनता को पूरा भरोसा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सभी विभाग बेहतर काम कर रहा है। कोरोना काल के चलते राज्य में कुछ काम रुका था। लेकिन इसके बाद कभी कोई समस्या नहीं हुई है।

पांडेय के अलावा किसी ने नहीं की रेट लिस्ट की बात

सत्ता पर काबिज कांग्रेस सरकार के विधायक शैलेष पांडेय द्वारा सार्वजनिक मंच पर पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठाए गए सवाल व थानों में रेट लिस्ट लगाने को लेकर दिए गए बयान पर गृहमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सत्ता के साथ ही विपक्ष के विधायक हैं। लेकिन शैलेष के अलावा अब तक किसी ने इस तरह की शिकायत नहीं की है। उन्होंने भी इसकी लिखित में शिकायत नहीं की है।

गृहमंत्री ने पुलिस का पक्ष लेते हुए कहा कि पुलिस हर एक मामले में गंभीर है। शहर विधायक पांडेय ने ऐसा क्यों और किसलिए कहा यह उनका अनुभव होगा। लेकिन उनके आरोप जैसी स्थिति थानों में नहीं है।

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस