बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रेलवे स्टेशन में साइकिल स्टैंड के कर्मचारियों द्वारा कांग्रेस कमेटी के सचिव पंकज सिंह से मारपीट करने के मामले विधायक शैलेश पांडेय समेत कांग्रेसियों ने सोमवार को डीआरएम से मुलाकात की। साथ ही उनसे ड्राप एंड गो सिस्टम के साथ ठेका ही निरस्त करने की मांग की। इसके अलावा रेलवे पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर जीआरपी के उन आरक्षकों के खिलाफ भी निलंबन की कार्रवाई करने के लिए कहा, जिन्होंने मारपीट करने वालों साथ दिया था।

विधायक पांडे ने डीआरएम को बताया कि बीती रात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव पंकज सिंह कार में मां व बच्चों को छोड़ने के लिए रेलवे स्टेशन गए थे। गेट नंबर तीन के पास ड्रॉप एंड गो की व्यवस्था है। जहां उन्होंने कार खड़ी की। इसी बीच स्टैंड ठेकेदार के कर्मचारी पहुंचकर जबरिया वसूली करने लगे। पंकज सिंह ने विरोध किया, लेकिन कर्मचारी 25 रुपये की मांग की करते हुए रसीद थमा दिया। रसीद फर्जी थी। फर्जी पर्ची काटने की बात कहीं तो उनके साथ मारपीट करते हुए जान से मारने की धमकी देने लगे। इस दौरान चार से पांच लोग थे। जिनमें जीआरपी के सिपाही केशव लहरें , दिलीप गुप्ता तथा लक्ष्मण भी शामिल है। सभी पर नशे की हालत में मारपीट करने का आरोप लगाया। इतना ही नहीं सिपाही बाल खींच कर जबरिया जीआरपी थाने ले गए। डीआरएम से उन्होंने ठेकेदार का ठेका निरस्त करने का पक्ष रखा है। सचिव से जिस स्थान पर मारपीट की गई वह तोरवा थाना क्षेत्र की सीमा है। लेकिन जीआरपी के जवान यहां मारपीट की घटना को अंजाम दिए। इसके बाद शहर विधायक जीआरपी थाने पहुंचे और अधिकारी व कर्मचारियों को खरी-खोटी सुनाई।

Posted By: Nai Dunia News Network