बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोटा विधानसभा में पहुचे केंद्रीय राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते का जिला कांग्रेस कमेटी ने काले झंडे दिखाकर नारे लगाकर डा.रामन यूनिवर्सिटी गेट के सामने बंद ट्रेनाें के पुन: परिचालन करने व ट्रेनों के स्टापेज को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।

कोरोना काल के बाद से ही बिलासपुर-पेंड्रारोड लाइन जिसमें छोटे-छोटे स्टेशन में रुकने वाली ट्रेनों का स्टापेज बंद कर दिया गया है। इसके कारण से स्थानीय और क्षेत्रीय लोगों को दिक्कत हो रही है। इसे लेकर गुरुवार को जिला कांग्रेस ने रेलवे प्रशासन व स्थानीय सांसद एव बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव की चुप्पी को लेकर जमकर नारेबाजी की। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केशरवानी ने कहा कि कोरोना काल से ट्रेनों के स्टापेज एवं परिचालन बंद कर दिया गया था। जनजीवन पहले से बेहतर होने पर ट्रेनों का आवागमन पुन: शुरू हो गया है, लेकिन छत्तीसगढ़ में ट्रेनाें का आवागमन संचालित नहीं कर रहे है।

ये भी पढ़ें: World Heart Day 2022: हार्ट अटैक अचानक नहीं होता, सालों तक की जाने वाली गलतियां बनती हैं वजह

इससे क्षेत्र के स्थानीय लोगों का आवागमन, शिक्षा रोजगार, यहां तक तीज त्योहार में परेशानी हो रही है। कोटा ब्लाक अध्यक्ष आदित्य दीक्षित ने कहा कि आंदोलन की शुरुआत पहले से ही हो चुकी है। यह प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा जब तक ट्रेनों की स्टापेज पुन: यथावत शुरू नहीं हो जाता है। केंद्र की मोदी सरकार बुलेट ट्रेन चलाने की बात करते हैं और आज यहां प्रदेश की जनता को लोकल और एक्सप्रेस ट्रेन तक नसीब नहीं हो रही है। यात्री भटक रहे हैं। आज के सांकेतिक धरना प्रदर्शन में रतनपुर ब्लाक अध्यक्ष रमेश सूय,र् तखतपुर ब्लाक अध्यक्ष बिहारी देवांगन , नीरज जायसवाल शेख निजामुद्दीन दुलारे, आशीष शर्मा, गणेश कश्यप, संतोष गुप्ता, अरुण त्रिवेदी, सुरेश चौहान, संतोष बघेल आदि उपस्थित थे।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close