बिलासपुर। Bilaspur News: जांजगीर कोरबा मार्ग को जोड़ने के लिए कनकी के पास दर्री बराज की दायी तट नहर में पुल का निर्माण जल संसाधन ने शुरू कर दिया है। 4.25 करोड़ की लागत से तैयार हो रहे पुल के पूर्ण होने से कोरबा-बिलासपुर और कोरबा-चांपा मार्ग में भारी वाहनों का दबाव कम हो जाएगा। निविदा के अनुसार जून माह के अंत तक काम पूरा हो जाएगा। आवागमन बहाल होने से सड़क दुर्घटना में कमी आएगी।

बहुप्रतीक्षित कनकी पुल का निर्माण शुरू होने से जांजगीर कोरबा पहुंच आसान होने के साथ बिलासपुर की यात्रा सुगम हो जाएगी। परिवहन सुविधा को आसान करने के लिए मार्ग का निर्माण तो हो चुका है लेकिन लेकिन पुल के अभाव में भारी वाहनों के आवागमन के लिए समस्या हो रही है। हसदेव दर्री बराज की दायी तट नहर में सिंचाई सुविधा को बाधित लिए बगैर पुल निर्माण में सड़क विकास निगम को समस्या आ रही थी।

असुविधा को देखते हुए शासन ने निर्माण का दायित्व जल संसाधन को दे दिया। विभाग ने निविदा जारी कर पुल का निर्माण शुरू कर दिया है। पुल के बनाने से कोरबा शहर से बिलासपुर जाने वाले भारी वाहनों को कटघोरा पाली मार्ग के बजाय सुविधाजनक होगी। जल संसाधन हसदेव बराज के मुख्य कार्यपालन अभियंता पीके वासनिक ने बताया कि आगामी बारिश से पहले पुल का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।

नहर में छोड़ा जा रहा पानी

इन दिनों पुल में रबी फसल सिंचाई के लिए पानी छोड़ा जा रहा है। पुल का निर्माण जल प्रवाह को बाधित किए बगैर ही पूरा किया जाएगा। फरवरी माह से जल प्रवाह कम हो जाएगा। इससे निर्माण कार्य में आसानी होगी।

मजबूती के लिए खड़े किए जाएंगे छह स्तंभ

डबल लेन सड़क के मापदंड पर निर्धारित पुल की मजबूती के लिए छह स्तंभ खड़े किए जाएंगे। 12 मीटर चाैड़ा और 48 मीटर लंबा पुल भारी वाहनों के आवागमन के लिए सुलभ होगा।

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस