बिलासपुर। Bilaspur News : संभाग मुख्यालय अंबिकापुर में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत प्रतीक्षा बस अड्डे में संचालित थोक सब्जी मंडी को दूसरी जगह ले जाने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कोरोना संक्रमण के कारण अप्रैल में अंतर्राज्यीय बस अड्डे में सब्जी मंडी शिफ्ट की गई थी। अब यहां बसों का संचालन होने व पक्कीकरण का काम शुरू करने से पहले सब्जी मंडी को दूसरी जगह ले जाने में पेंच फंस गया है।

प्रशासन पुरानी थोक सब्जी मंडी कंपनी बाजार में वापस ले जाने के लिए तैयार नहीं हो रहा और थोक सब्जी व्यवसायी ट्रांसपोर्ट नगर की खाली भूमि पर बगैर व्यवस्था और सुविधा के जाने तैयार नहीं हैं। वे पुरानी मंडी स्थल यानी कंपनी बाजार में जाने की मांग कर रहे हैं। व्यवस्थापन को लेकर अब प्रशासन, नगर निगम और सब्जी व्यवसायियों में गतिरोध की स्थिति निर्मित हो गई है।

सब्जी व्यवसायी निगम द्वारा प्रस्तावित सुभाष नगर सब्जी मंडी का भी विरोध कर रहे हैं। मुख्य मार्ग से भीतर इस इलाके में बाजार ले जाने को वे सभी व्यापारियों और सब्जी उत्पादकों के लिए असुविधाजनक बता रहे हैं। बहरहाल इसी उहापोह की स्थिति में रविवार को भी थोक सब्जी मंडी का संचालन प्रतीक्षा बस स्टैंड में ही चलता रहा। अंतरराज्यीय बस अड्डे पर निर्माण कार्य शुरू होने की तैयारी व बसों का संचालन होने से सब्जी मंडी में दिक्कतें आ रही हैं।

सब्जी मंडी के लिए नगर निगम द्वारा सुभाषनगर में करीब 10 एकड़ भूमि का चयन किया गया गया है। यहां अभी मंडी संचालन से पूर्व अधोसंरचना विकास का काम शुरू नहीं किया गया है। ऐसे में फिलहाल सब्जी मंडी प्रतीक्षा बस अड्डे से हटे तो कहां ले जाया जाए, इस पर अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है।

ट्रांसपोर्ट नगर में मंडी के लिए जमीन की मांग

थोक सब्जी का कारोबार करने वाले व्यापारी लंबे समय से प्रशासन से स्थायी सब्जी मंडी के लिए ट्रांसपोर्ट नगर के पास खाली पड़ी जमीन देने की मांग कर रहे हैं। इसे लेकर न्यू किसान मित्र व्यापारी संघ द्वारा कलेक्टर सरगुजा को जून और पिछले महीने ज्ञापन सौंप अपनी समस्या बताई गई है। संघ का कहना है कि किसी भी व्यापारी और सब्जी उत्पादक किसान की लिए निगम द्वारा सुभाष नगर में प्रस्तावित थोक सब्जी मंडी स्थल उपयोगी नहीं है। बनारस रोड से दो किमी दूर होने के साथ यहां पहुंचने के बना रास्ता काफी संकरा है।

बीच बस्ती के भीतर से रोज एक हजार गाड़ियां सब्जी लेकर पहुंचेंगी। ऐसे में वहां के लोगों की परेशानी बढ़ेगी। कुछ अनहोनी हुई तो किसान व व्यापारी वहां के लोगों के निशाने पर रहेंगे। दूसरी परेशानी यह है कि सब्जी लेकर आने वाली अधिकांश गाड़ियां बिलासपुर और रायपुर की ओर से आती हैं। इन गाड़ियों को पूरा रिंगरोड घूमकर बनारस रोड जाना होगा।

ज्ञापन में व्यापारियों ने सुझाव देते हुए बताया कि यदि ट्रांसपोर्ट नगर के पास की खाली जमीन में सब्जी मंडी स्थापित की जाए तो गाड़ियों के आने जाने की समस्या तो दूर होगी हो शहर के भीतर बड़े वाहनों की आवाजाही भी कम हो जाएगी। व्यापारियों का कहना है कि प्रशासन और निगम उन्हें यदि वहां जमीन उपलब्ध करा दे तो वे पीपीपी मॉडल में मंडी के लिए जरूरी निर्माण करा लेंगे।

चार घंटे मंडी, फिर शुरू होता है बस अड्डा

बसों का संचालन शुरू होने के बाद प्रतीक्षा बस अड्डे में सब्जी व्यापारियों एवं बस संचालकों को रोज परेशानी उठानी पड़ रही है। सब्जी मंडी के सुबह छह बजे से 10 बजे तक संचालन के दौरान बसों की आवाजाही प्रतीक्षा बस के बाहर से होती है। 10 बजे के बाद बसें भीतर से आती जाती है। मगर, इस चक्कर में व्यापारियों और बस संचालकों को परेशानी उठानी पड़ती है।

इस बारे में अंबिकापुर महापौर डा. अजय तिर्की ने बताया कि सब्जी मंडी की व्यवस्थापन को लेकर पहल हो रही है। व्यापारियों और किसानों को परेशानी न हो, ऐसा उपाय निकाला जा रहा है। हम व्यापारियों को बेहतर सुविधा के साथ वहां से दूसरी जगह ले जाएंगे। मंडी शिफ्ट करने के बाद ही प्रतीक्षा बस अड्डे में पक्कीकरण का काम शुरू होगा।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस