बिलासपुर। Good News: कोरोना की दूसरी लहर ने हाहाकार मचा दिया है। जो संक्रमित हो रहे हैं उसे जीवन की बाजी जीतने के लिए कड़े संघर्ष करना पड़ रहा है। युवा से लेकर बुजुर्ग के बीच हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना विजेताओं की संख्या भी कम नहीं है। जिन्होंने अपने साहस के चलते कोरोना को हराने मंे कामयाबी पाई है। ऐसे की एक कहानी कोटमीसुनार की 88 वर्षीय उदशिया सिंह की है। जिन्होंने अदम्य साहस और दृढ़ इच्छा शक्ति के दम पर कोरोना पर विजय पाई है।

उम्र दराज होने के साथ ही शरीर में हिमोग्लोबीन की कमी भी बनी हुई है। शारीरिक क्षमता ऐसा नहीं कि कोरोना पर विजय पा सके। उदशिया ने यह भी कर दिखाया। संक्रमण के मौजूदा दौर में कोरोना पर विजय प्राप्त कर एक उदाहरण पेश की है। उनका कहना है कि जीन की इच्छा ने ही कोरोना को हराया है। कोटमीसुनार निवासी ओम सिंह व दिनेश सिंह बताते हैं कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच उनकी मां की तबियत बिगड़ी। 88 बरस की होने के कारण शारीरिक दुर्बलता तो है साथ ही हिमोग्लोबिन भी शरीर में काफी कम है। चिकित्सकीय जांच के दौरान पता चला कि पांच ग्राम हिमोग्लोबिन है।

खून की कमी भी बनी हुई है। गले में खरास,सर्दी और बुखार आने पर हम सभी डर गए थे। कोरोना संक्रमण की आशंका से मन डर गया था। बुजुर्ग होने के कारण उनको अकेले छोड़ा भी नहीं जा सकता था। लिहाजा हम सभी ने निर्णय लिया कि चाहे जो हो मां को अस्पताल साथ लेकर जाएंगे। बिलासपुर के एक निजी अस्पताल में उनको भर्ती कराया गया। टेस्ट के बाद पता चला कि मां पाजिटिव हो गईं हैं। उनको इलाज करना पड़ेगा। कठोर मन करके हमने मां को निजी कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया। राहत वाली बात ये कि संक्रमण फैलना शुरू हुआ ही था। पांच दिनों तक इलाज चला। कड़े संघर्ष के बाद कोरोना से जीतने में कामयाबी पा ही ली।

मां ने बेटा व स्वजनों को दिलाई राहत

ओम व दिनेश ने बताया कि पाजिटिव हुई तब हम लोगों की बेचैनी बढ़ गई थी। अचरज की बात ये कि मां ने साहस के साथ काम लिया। हम लोगों को साहस दिलाई और वापस आने का भरोसा भी दिलाया। मां के साहस से ही हम लोगों को संबल मिला और मन में भरोसा रखकर घर की तरफ लौटे। पांच दिनों बाद अस्पताल से अच्छी खबर आई मां स्वस्थ्य है। डा.देवरस ने मां से बात कराया। मां की आवाज सुनने के बाद हम लोगों ने राहत की सांस ली। देवशिया अब स्वस्थ्य है और घर में आइसोलेट होकर स्वास्थ्य लाभ ले रही हैं।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags