बिलासपुर।Corona Fighter: होम आइसोलेशन में रहकर चिकित्सकीय परामर्श एवं मजबूत इच्छाशक्ति के चलते बजाज दंपती ने कोरोना पर विजय हासिल कर ली है। वे कहते हैं कि मनोबल बढ़ाकर रखने से हर काम मुमकिन हो जाता है।

उन्होंने सकरात्मक सोच, अनुशासित दिनचर्या, प्राणायाम और चिकित्सकों द्वारा दी गई जरूरी दवाओं के साथ कोरोना को मात दी है। 61 वर्षीय ललित बजाज एवं 59 वर्षीय प्रतिभा बजाज का कहना है कि यदि हमारा हौसला मजबूत हो तो कोरोना हमें नहीं हरा सकता। होम आइसोलेशन में रहकर डाक्टर की सलाह का शत प्रतिशत पालन किया जाए, जैसा कि उन्होंने किया है तो निश्चित रूप से कोरोना पीड़ित मरीज स्वस्थ हो सकते हैं।

इसके साथ ही शरीर को सकरात्मक शक्ति की भी आवश्यकता रहती है। उन्होंने बताया कि होम आइसेालेशन के दौरान डाक्टर प्रतिदिन उन्हें फोन कर स्वास्थ्य की जानकारी लेते थे। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में सावधानी भी बरतनी चाहिए जिससे अन्य लोगों को संक्रमण न हो।

बजाज दंपती का कहना हैं कि कोरोना से बचने के लिए कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना चाहिए। यदि फिर भी संक्रमित हो गये तो दवाइयों के साथ-साथ अपना मनोबल भी बढ़ाकर रखना चाहिए जिससे कोरोना को मात दी जा सकती है।

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags