बिलासपुर। Corona News: कोरोना महामारी का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे में लाकडाउन न लगे इसके लिए पुलिस प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। लेकिन भीड़ है कि दिन में थमने का नाम ही नहीं ले रही है। वहीं शाम सात बजते ही प्रशासनिक निर्देशों पर अमल करते हुए दुकानें बंद होने लगी हैं। इसके बाद घर जाने की आपाधापी में एक घंटे तक सड़कों पर जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है। रात नौ बजे के बाद ही सड़कें सूनसान होती हैं।

प्रदेश के कई जिलों में लाकडाउन की स्थिति निर्मित हो गई है। इससे बिलासपुर भी अछूता नहीं है। यह नौबत न आए इसके लिए पुलिस पिछले दो दिन से सड़कों पर उतर आई है। एसपी प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर बिना मास्क घूमने वालों के साथ ही शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है।

नतीजा यह हुआ कि लोग मास्क पहने नजर आ रहे हैं। लेकिन दिन में बाजार में भीड़ कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। कोरोना महामारी की परवाह किए बिना महिलाएं अपने छोटे बच्चों के साथ परिवार समेत खरीदारी करने निकल रही हैं। जबकि अभी स्थिति काफी भयावह है। बावजूद इसके लोग घरों में रहना पसंद नहीं कर रहे हैं। किसी न किसी काम के बहाने लोग रोज बाजार पहुंच रहे हैं। यही हाल सब्जी मार्केट व अन्य दुकानों में भी रहती है।

इन सबके बीच पुलिस की सख्ती भी चल रही है। नाइट कर्फ्यू पर अमल कराने के लिए पुलिस अफसर, थानेदार व जवान लगातार अपने क्षेत्र में पैट्रोलिंग कर रहे हैं। पुलिस की सख्त रूख को देखकर शहर के व्यापारी शाम सात बजते ही स्वस्फूर्त दुकानों को बंद करने लगे हैं। इसके बाद घर लौटने वालों की भीड़ सड़कों पर नजर आने लगती है। फिर अचानक सन्न्ाटा सा नजर आने लगता है। गुस्र्वार की शाम भी शहर के बाजार व दुकानों में यही नजारा देखने को मिला।

सड़कों में घर लौटने वालों की भीड़ के बीच लगातार भ्रमण करते पुलिस की पैट्रोलिंग पार्टी नजर आती रही। फिर महज साढ़े सात बजे बाजार व दुकानों में सन्न्ाटा पसर गया। बिना किसी हुज्जतबाजी या पुलिस के दबाव के व्यापारी खुद ब खुद सात बजते ही शटर गिराते दिख रहे थे। इस दौरान पेट्रोल पम्प, मेडिकल दुकानों और होटल जरूर खुले नजर आए। एसपी प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि नियमों का पालन नहीं करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी और दुकानों को सील कर दिया जाएगा।

व्यापारी नहीं चाहते लाकडाउन लगे

पिछले दो दिन से शहर की स्थिति में बदलाव नजर आने लगा है। नाइट कर्फ्यू के आदेश पर सख्ती से पालन हो रहा है। हालाकि, दिन में भीड़ जरूर दिख रही है। फिर भी शाम छह बजते ही व्यापारी अपने कर्मचारियों को दुकान समेटने की हिदायत देने लगते हैं। वहीं देर से पहुंचने वाले ग्राहकों को व्यापारी खाली हाथ लौटने के लिए मजबूर भी कर रहे हैं।

सड़क किनारे लगे गुमटी ठेला वाले भी सात बजे से पहले घर की ओर रवाना होने लगे थे। व्यापार विहार में धारा 144 का जबरदस्त असर देखने को मिल रहा है। दरअसल कोई भी व्यापारी नहीं चाहते कि शहर में लाकडाउन लगे। सदरबाजार, गोलबाजार में ज्वेलरी शाप के साथ ही कपड़ों की दुकानें भी तय समय पर बंद होने लगी है।

होटल-बार वालों के चलते दिख रहे हैं लोग

शहर में होटल, ढाबा व बार को नौ बजे तक समय दिया गया है। वहीं पेट्रोल पंप व मेडिकल स्टोर को नाइट कर्फ्यू से मुक्त रखा गया है। दरअसल शहर में शाम सात बजे के बाद होटल व बार जाने वाले लोग नजर आते हैं। इसके चलते सब्जी बाजार व दुकानों के साथ सड़कों में भीड़ नजर नहीं आती। फिर भी अभी नौ बजे तक नाइट कर्फ्यू में मिली ढील के चलते कुछ लोगों की भीड़ दिखाई दे रही है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags