बिलासपुर। ग्राम लगरा स्थित शासकीय नर्सिंग कॉलेज को कोरोना अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है। यहां पर 300 बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार है। आपातकालीन स्थिति में यहां कोरोना पीड़ितों का उपचार किया जाएगा। इसके लिए जरूरी संसाधन की व्यवस्था भी कर ली गई है। कोरोना को लेकर जिला बेहतर स्थिति में है। इसके बाद भी स्थिति बिगड़ने की आशंका को दरकिनार नहीं किया जा सकता।

ऐसे में जिला प्रशासन, नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग जरूरी व्यवस्था कर रहे हैं। इसी कड़ी में शहर से लगे ग्राम लगरा स्थित शासकीय नर्सिंग कॉलेज को कोरोना अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है। कॉलेज बंद होने की वजह से इसमें कोई कठिनाई भी नहीं आई। यहां बेड, कुर्सी-टेबल, चिकित्सकीय उपकरण व जरूरी दवाओं का स्टॉक कर लिया गया है। आपतालकालीन स्थिति में 300 कोरोना पीड़ितों का उपचार किया जा सकेगा।

नगर निगम को मिला था जिम्मा

इस अस्पताल को तैयार करने का जिम्मा नगर निगम प्रबंधन को दिया गया था। इसके बाद आनन फानन में सभी जरूरी संसाधन की व्यवस्था की गई। इसके संचालन की जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की होगी। जल्द ही यह अस्पताल स्वास्थ्य विभाग को सौंप दिया जाएगा।

जरूरी पड़ने पर ओपीडी भी

यह अस्पताल मरीजों को भर्ती कर उपचार करने के लिए बनाया गया है। लेकिन जरूरत पड़ने पर यहां पर ओपीडी का संचालन भी किया जाएगा। एक तरफ संदेहियों की जांच होती रहेगी, वहीं दूसरी और गंभीर मरीजों का उपचार होगा।

- लगरा के नर्सिंग कॉलेज को अस्पताल में तब्दील किया गया है। जल्द ही इसे स्वास्थ्य विभाग को हेंडओवर किया जाएगा। जररूत पड़ने पर इस अस्पताल को शुरू कर दिया जाएगा। - डॉ. प्रमोद महाजन, सीएमएचओ, बिलासपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना