बिलासपुर। विदेश व कोरोना प्रभावित महानगरों से घूमकर आने वाले कई लोगों ने डॉक्टर से अपनी जांच नहीं कराई है। ऐसे लोग शहर में घूम रहे हैं और अपने घरों में हैं। उनके कारण शहर में कोरोना का संक्रमण फैलने की आशंका है। अब पुलिस उनकी पहचान कर सख्ती से कार्रवाई करेगी। ऐसे लोगों की पुलिस गुपचुप तरीके से जानकारी जुटा रही है। इसी तरह सोशल मीडिया में कोरोना को लेकर अफवाह फैलाने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए पुलिस की साइबर टीम को नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना संक्रमण को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भ्रम फैलाने का सिलसिला शुरू हो गया है। ऐसी अफवाहों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार सख्ती से कार्रवाई कर रही है। उनकी पहचान कर आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने एडवायजरी भी जारी की है।

इसमें कहा गया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित करते हुए ग्लोबल इमरजेंसी बताया है। राज्य सरकार ने भी पुलिस को ऐसे तत्वों की पहचान कर एफआइआर दर्ज करने कहा है। आइजी दीपांशु काबरा ने सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए साइबर सेल की टीम को निर्देशित किया है।

आइजी काबरा ने मार्च के पहले व दूसरे सप्ताह में विदेश व दूसरे राज्यों के महानगर घूम कर आए ऐसे लोगों की भी जानकारी जुटाने की बात कही है, जिन्होंने कोरोना के वायरस की जांच नहीं कराई है और अपने आप को आइसुलेट किए बिना ही शहर में घूमना शुरू कर दिया है। उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण भी दर्ज करने कहा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket