बिलासपुर। कोटा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गाँव में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों में कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं की नियुक्ति की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। नियुक्ति में जिले के साथ ही कोटा विधानसभा क्षेत्र के सत्ताधारी दल से जुड़े दिग्गजोंन की कितनी चल पाई और अपने समर्थकों को उपकृत कर पाए या नहीं यह देखने वाली बात होगी।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता,सहायिका व स्व सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं की भूमिका चुनाव के दौरान महत्वपूर्ण रहती है। सरकार की योजनाओं को घर घर पहुंचने के अलावा गाँव के प्रत्येक घरों व सदस्यों के बीच इनकी सीधी पहुंच होती है। ग्रामीण महिलाएं इनकी बातों पर भरोसा भी करती है। यही कारण है कि चुनाव के दौरान जिस दल से जुड़ जाती हसीन परोक्ष रूप से फायदा भी मिलता है।

राज्य में कांग्रेस की सरकार है। माना जा रहा है कि सत्ताधारी दल के दिग्गज अपने ग्रामीण कार्यकर्ताओं को उपकृत करेंगे व घर की महिला सदस्यों को कार्यकर्ता व सहायिका के पदों पर एडजस्ट भी किये होंगे। नियुक्ति में किस दिग्गज को कितनी तव्वजो मिली इसकी जानकारी भी जल्द हो जाएगी।

मालूम हो कि एकीकृत बाल विकास परियोजना कोटा अंतर्गत 22 आंगनबाड़ी केंद्रों में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं तथा 12 आंगनबाड़ी कंद्रों में सहायिकाओं की रिक्त पदों की पूर्ति हेतु अनंतिम वरियता सूची का मूल्यांकन कर लिया गया है। मूल्यांकन समिति द्वारा वरियता सूची जारी कर दी गई है।

फाइल व सूची एकीकृत बाल विकास परियोजना कोटा के हवाले कर दिया गया है।जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी कोटा में अनंतिम वरियता सूची के संबंध में दावा आपत्ति 21 जनवरी से लेकर 31 जनवरी तक परियोजना कार्यालय कोटा में कार्यालयीन दिवस में पेश करने की सुविधा दी गई है।

34 केंद्रों में होनी है भर्ती

कोटा ब्लाक के 34 आंगनबाड़ी में कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं की नियुक्ति होनी है। कोटा विधानसभा क्षेत्र में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की विधायक डा रेणु जोगी काबिज हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान के अलावा जिला व जनपद पंचायत के सदस्य भी काबिज हैं। जाहिर है नियुक्ति में इनकी भी दखलंदाजी दिखाई देगी।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local