बिलासपुर। Covid Era Bilaspur Railway: दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे केंद्रीय चिकित्सालय में सुविधा, संसाधन और मेडिकल स्टाफ की कमी के चलते मरीज व उनके स्वजन को काफी परेशानी हो रही थी। स्वतंत्र रेलवे बहुजन कर्मचारी यूनियन के दबाव के बाद आखिकर रेलवे ने सुविधाओं में वृद्धि करते हुए राहत दी है। इससे सभी को बड़ी राहत मिली है।

स्वतंत्र रेलवे बहुजन कर्मचारी यूनियन ने डीआरएम से मिलकर मेडिकल स्टाफ बढ़ाने की मांग भी की थी। यूनियन के महामंत्री बीआर साह, सचिव शिव कुमार व सहायक महामंत्री मनोज कुमार ने इसके लिए डीआरएम और प्रबंधन को चिठ्ठी लिखकर मांग की थी। इसमें आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था, बेड की संख्या बढ़ाने, आइसोलेशन वार्ड तैयार करने, अस्पताल में डाक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और सफाई कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने का जिक्र किया गया था।

रेलवे ने यूनियन की इस मांग को गंभीरता से लेते हुए पूर्ति कर दी है। इस सुविधा के उपलब्ध हो जाने के बाद अब रेल कर्मचारी और उनके स्वजनों को रेलवे अस्पताल में ही कोविड का बेहतर इलाज उपलब्ध हो सकेगा। छह फार्मासिस्ट, छह ड्रेसर, छह लैब टेक्नीशियन, सात एक्स रे टेक्नीशियन, पांच डायलिसिस टेक्निशियन, 20 डाक्टर और 23 नर्सिंग स्टाफ की संविदा नियुक्ति की गई है।

20 अतिरिक्त बेड की सुविधा

केंद्रीय चिकित्सालय में अब तक कोविड-19 मरीजों के लिए 75 बेड की सुविधा थी। संक्रमण को ध्यान में रखते हुए अब 20 अतिरिक्त बेड बढ़ा दिए गए हैं। यहां बेड की संख्या बढ़कर 105 हो गई है। 30 आइसीयू बेड की व्यवस्था की गई है। एक्सरे रूम को आइसोलेशन वार्ड में बदला गया है।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags