बिलासपुर। सिरगिट्टी क्षेत्र में रहने वाली 18 वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मामले की जांच में पता चला कि उसके पिता चरित्र शंका को लेकर अपनी पत्नी से मारपीट करते थे। घटना के दिन भी उसने अपनी पत्नी से मारपीट की थी। पिता की प्रताड़ना से उसने आत्महत्या कर ली। मामले में पुलिस ने पिता के खिलाफ आत्महत्या के लिए उठाने का जुर्म दर्ज किया है।

सिरगिट्टी के आवासपारा में रहने वाली ममता राजपूत ने 16 मार्च की शाम 7:00 बजे अपने घर में फांसी लगा ली। ममता के भाई राहुल और मां ज्योति ने उसे फांसी के फंदे पर झूलते देखा। दोनों ने किसी तरह फांसी का फंदा काटकर उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया। उपचार के दौरान 18 मार्च की रात 1:00 बजे ममता की मौत हो गई। घटना की सूचना पर सिरगिट्टी पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। पूछताछ में ममता की मां ज्योति, भाई राहुल और रिश्तेदारों ने बताया कि ममता के पिता चुरावन सिंह राजपूत आए दिन मारपीट करता था। चुरावन पत्नी पर चरित्रशंका करते हुए अक्सर विवाद करता था।

इस संबंध में परिवार के लोगों के बीच बैठक भी हुई थी। 18 जून 2020 को चुरावन ने परिवार वालों के साथ विवाद नहीं करने लिखित सहमति पत्र भी दिया था। इसके बावजूद उसकी आदतों में सुधार नहीं हुआ। 6 सितंबर 2021 को उसने घर में पत्नी ज्योति और बेटी ममता से मारपीट की। ज्योति ने इसकी शिकायत सिरगिट्टी थाने में की। इस पर पुलिस ने जुर्म दर्ज किया था। इसके अलावा वह आए दिन पत्नी और बेटी से मारपीट करता था। 16 मार्च की शाम भी उसने अपनी पत्नी से मारपीट की।

इस दौरान बीच-बचाव करने पर बेटी ममता की भी पिटाई कर दी। पांच सालों से वह अपनी पत्नी और बच्चों से विवाद करता था। इससे परेशान होकर बेटी ममता ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पूछताछ और जांच के बाद पुलिस ने पिता चुरावन राजपूत पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close