बिलासपुर। शासन के आदेश पर स्कूली बच्चों को दी जाने वाले कृमि दवा पिलाने पर आरटीआइ कार्यकर्ता ने अपनी बेटी की तबीयत बिगड़ने का आरोप लगाया है। यही नहीं इसकी आड़ में स्कूल की मान्यता खत्म कराने की धमकी देकर वह पांच लाख रुपये हर्जाना मांग रहा है। स्कूल संचालिका की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित आरटीआइ कार्यकर्ता के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। बंधवापारा अरविंद नगर स्थित ड्रीमलैंड स्कूल की संचालिका निवेदिता सरकार अपने स्टाफ के साथ बुधवार को मामले की शिकायत लेकर एसपी ऑफिस पहुंची। उन्होंने एसपी प्रशांत कुमार अग्रवाल से मुलाकात कर बताया कि शिक्षा अधिकारी के निर्देश पर स्कूल में विद्यार्थियों को आठ अगस्त को कृमि दिवस पर दवा पिलाई गई।

राष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य जागरूकता के लिए शासन-प्रशासन के निर्देश द्वारा अभियान चलाया गया। इसी के तहत स्कूल में विद्यार्थियों को भी दवा पिलाई गई। इसके कुछ दिन बाद कथित आरटीआइ कार्यकर्ता रजनीश साहू ने स्कूल प्रबंधन को नोटिस दिया, जिसमें बताया कि दवा पिलाने से उसकी बेटी की तबीयत बिगड़ गई है।

इसके लिए उसने पांच लाख रुपये हर्जाना देने की मांग की। इसके बाद से लगातार वह स्कूल में आकर प्राचार्य व स्टाफ को धमकी दे रहा है। यही नहीं वह सूचना के अधिकार व अन्य तरीके से जानकारी लेकर स्कूल की मान्यता खत्म कराने की भी धमकी दे रहा है।

एसपी अग्रवाल ने उन्हें इस घटना की शिकायत थाने में दर्ज कराने व फिर अपराध दर्ज कराने का की बात कही। उनके निर्देश पर प्राचार्य सरकंडा थाने पहुंची और रिपोर्ट दर्ज कराई। उनकी रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपित रजनीश साहू के खिलाफ धारा 341, 385 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

पहले भी आरोपित जा चुका है जेल

आरोपित रजनीश साहू अपने आप को आरटीआइ कार्यकर्ता बताकर व सूचना के अधिकार के तहत जानकारी लेने के बहाने पहले भी अफसरों को धमकाता रहा है। हालॉकि इससे पहले इस तरह की शिकायत कभी नहीं की गई। लेकिन सूचना के अधिकार के तहत जानकारी लेने, कलेक्टर को फर्जी आवेदन पत्र के सहारे फर्जी सील लगाकर हाईकोर्ट को गुमराह करने के मामले में पहले जेल जा चुका है। इसके पहले भी उसके खिलाफ धोखाधड़ी के भी आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं।

जमीन धोखाधड़ी का भी है आरोपित

आरोपित रजनीश साहू जमीन खरीद-बिक्री के मामले में भी धोखाधड़ी का आरोपित है। सरकंडा के दुबे परिवार ने जमीन विवाद को लेकर उसके खिलाफ अपराध दर्ज कराया था। इस मामले में उसके कुछ रिश्तेदारों को जेल भी जाना पड़ा था।

Posted By: Nai Dunia News Network