बिलासपुर। Demands of Teachers to CG Govt: शिक्षक संघ ने मध्य प्रदेश व बिहार की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भी 50 लाख का बीमा और अनुकंपा नियुक्ति की मांग की है। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री सहित स्वास्थ्य मंत्री, शिक्षा मंत्री, मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव व शिक्षा सचिव को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की है।

शिक्षक संघ के अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार का रवैय्या ठीक नहीं है। शिक्षकों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। शिक्षकों के लिए शाला बंद नहीं है। मध्यान्ह भोजन, जाति प्रमाण पत्र, 10 वीं व 12 वीं परीक्षा, स्वैक्षिक मोहल्ला क्लास आदि कार्यों से प्रतिदिन सैकडों छात्रों से नियमित संपर्क में हैं, जिससे अब शिक्षक व बच्चों में संक्रमण तेजी से फैलने की आशंका है, जो जानलेवा साबित हो सकता है। ऐसी स्थिति में ध्यान नहीं देना चिंता का विषय है।

मध्य प्रदेश और बिहार सरकार से सीख लेते हुए उसी तर्ज पर शिक्षकों को बीमा की परिधि में लाने की जरूरत है। श्रेणी पद पर अनुकंपा नियुक्ति देनी होगी। शिक्षक भी प्रथम पंक्ति के कोरोना वारियर्स हैं, जिनका सीधा संबंध देश के नौनिहालों से रहता है। शिक्षक सुरक्षित रहेंगे तो वे भी सुरक्षित रहेंगे। कार्यस्थल पर न्यूनतम जोखिम के लिए आवश्यक संसाधनों की पूर्ति की जाए।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष संतोष सिंह, कोषाध्यक्ष आशीष गुप्ता प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजिद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, डा.कोमल वैष्णव, प्रदेश सचिव मनोज सनाढ्य, प्रदेश कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने भी नाराजगी व्यक्त की। सभी का कहना है कि इन मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो आने वाले समय में पुरजोर तरीके से विरोध दर्ज कराया जाएगा।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags