बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। एकादशी पर्व धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। इसके लिए खाटू श्याम मंदिर समेत मसानगंज स्थित खाटू श्याम में तैयारियां जोरशोर से से चल रही है। एकादशी उत्सव के लिए रंग-बिरंगी रोशनी से सजा खाटू श्याम मंदिर आस्था के साथ ही आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। घोंघाबाबा मंदिर परिसर स्थित श्रीखाटू श्याम मंदिर में गुरुवार पर्व मनाया जाएगा।

श्री खाटू श्याम मंदिर ट्रस्ट की ओर से घोंघाबाबा मंदिर परिसर स्थित श्री खाटू श्याम मंदिर में सात नवंबर गुरुवार से लेकर नौ नवंबर शनिवार तक नवम श्री श्याम महोत्सव चलेगा। एकादशी श्रीश्याम उत्सव की शुरुआत सात नवंबर गुरुवार को श्री श्याम कथा के साथ होगी। कथावाचक मीनू दुबे होंगे। वहीं दूसरे दिन शुक्रवार आठ नवंबर को भव्य निशानयात्रा निकलेगी।

इसकी शुरुआत सुबह 10 बजे से तिलक नगर स्थित श्री श्याम मंदिर से होगी और श्री श्याम मंदिर तक पहुंचकर पूर्ण श्यामबाबा के श्रीचरणों में निशान अर्पित करने के साथ ही निशानयात्रा पूर्ण होगी। इसी दिन निशानयात्रा के बाद शाम को श्री श्याम भजन संध्या का आयोजन होगा।

इसमें खलीलाबाद के सरदार हरमहेंद्र सिंह रोमी और अबोहर के मयंक अग्रवाल भक्तिमय श्याम भजनों की प्रस्तुति देंगे। इस दौरान श्याम बाबा का अलौकिक श्रृंगार किया जाएगा। श्याम रसोई से छप्पन भोग लगेगा और अखंड ज्योति प्रज्जवलित की जाएगी। तीसरे व अंतिम दिन शनिवार नौ नवंबर को सुबह सवामणी का भोग लगेगा। इसके बाद महाप्रसाद भंडारा का आयोजन होगा।

आज से मसानगंज में एकादशी उत्सव

श्री खाटू श्याम पंचमुखी हनुमान मंदिर मसानगंज में 20 वां श्री श्याम कार्तिक उत्सव की शुरुआत छह नवंबर बुधवार को श्री श्याम निशान यात्रा के साथ होगी। निशान यात्रा सुबह नौ बजे मध्यनगरी चौक स्थित राधा-कृष्ण मंदिर से प्रारंभ होगी। जो प्रमुख मार्गों का भ्रमण करते हुए मंदिर पहुंचकर पूर्ण होगी। दूसरे दिन सात नवंबर गुरुवार को अखण्ड ज्योति प्रज्जवलित होगी और श्रीश्याम पाठ होगा।

दूसरे दिन शुक्रवार आठ नवंबर को श्री श्याम एकादशी कीर्तन होगा। तीसरे व अंतिम दिन नौ नवंबर शनिवार को श्री श्याम द्वादशी भंडारा का आयोजन शाम आठ बजे से होगा। एकादशी उत्सव में श्रीश्याम बाबा का आलौकिक दरबार सजेगा और सवामणी भोग के साथ ही 56 भोग लगेगा।

लगेगा बाजार, शुरू होगा राउत नाच

आठ नवंबर को एकादशी के दिन से अंचल में राउत नाच की शुरुआत होगी। गड़वा बाबा की धुन पर थिरकते हुए यदुवंशी अपने शौर्य का प्रदर्शन करेंगे। एकादशी के दिन शनिचरी में राउत बाजार लगेगा। जहां अंचल के यदुवंशी गड़वा बाजा का सौदा करेंगे। सौदा पक्का होने पर वे अपने साथ लेकर जाएंगे।

इससे एकादशी के बाद के पहले शनिवार को छोड़कर दूसरे शनिवार के एक दिन पहले तक घर-घर घूमकर प्रदर्शन करेंगे। दूसरे शनिवार को विशाल राउत नाच का आयोजन लालबहादुर शास्त्री स्कूल मैदान में होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network