बिलासपुर Chhattisgarh Festival । जुलाई माह से कई त्योहारों का सिलसिला शुरू हो रहा है। इसमें लगभग 15 त्योहार आ रहे हैं। आमतौर पर इन त्योहारों में सभी ओर रौनक रहती थी। बाजार भी गुलजार रहता था लेकिन, इस बार कोरोना काल में त्योहारों का स्वरूप भी बदला-बदला नजर आएगा। जहां लोग संक्रमण से बचने एक-दूसरे से मिलने से परहेज करेंगे वहीं साधारण ढंग से अपने-अपने घरों में सीमित परिजन की उपस्थिति में मनाएंगे। इससे बाजार में भी रौनक कम नजर आएगी। छत्तीसगढ़ की परंपरा में हरेली से होली तक पड़ने वाले त्योहारों को विशेष रूप से मनाते हैं। इसके अनुसार 20 जुलाई से त्योहार शुरू होंगे। घरों में भी पारंपरिक पकवान बनने लगेंगे।

पितृपक्ष के एक माह बाद नवरात्र

इस बार अधिकमास होने की वजह से चातुर्मास पांच महीने का होगा। वहीं पितृपक्ष के एक महीने के बाद नवरात्र पड़ेगा। आमतौर पर पितृपक्ष की समाप्ति के दूसरे दिन से ही देवी आस्था का पर्व शुरू होता है लेकिन, इस बाद अश्विन यानी क्वांर अधिकमास है और अश्विन के 15 दिनों बाद पितृपक्ष रहेगा और इसके पूर्ण होने के साथ ही अधिकमास की शुरुआत होगी। अधिकमास की समाप्ति के बाद नवरात्र की शुरुआत होगी।

ये पड़ रहे त्योहार

- एक जुलाईः महाप्रभु की बाहुड़ा यात्रा और देवशयनी एकादशी

- पांच जुलाईः गुरु पूर्णिमा

- छह जुलाईः सावन शुरू (कांवड़ यात्रा)

- 20 जुलाईः हरेली

- 23 जुलाईः हरियाली तीज

- 25 जुलाईः नागपंचमी

- दो अगस्तः फ्रैंडशिप डे

- तीन अगस्तः रक्षाबंधन

- 10 अगस्तः हलषष्ठी

- 12 अगस्तः कृष्ण जन्माष्टमी

- 18 अगस्तः पोला

- 21 अगस्तः हरतालिका तीज

- 22 अगस्तः गणेशोत्सव प्रारंभ

- 31 अगस्तः ओणम

- 17 अक्टूबरः नवरात्र प्रारंभ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना