बिलासपुर। Bilaspur News: डायरेक्टर जनरल आफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) व एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया (एएआइ) के अफसरों ने बुधवार को चकरभाठा एयरपोर्ट का जायजा लिया। एयरपोर्ट की व्यवस्थाओं को देखकर उन्होंने संतुष्टि जताई है। डेमो दिखाने के लिए टीम ने फोटोग्राफ्स के साथ ही वीडियोग्राफी भी की है। उनकी रिपोर्ट पर एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया से अब थ्री सी लाइसेंस जारी किया जाएगा।

थ्री सी कैटेगरी लाइसेंस के लिए तैयार एयरपोर्ट का निरीक्षण करने बुधवार को डीजीसीए व एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया के अफसर सत्यप्रकाश राय व आशीष दुबे चकरभाठा पहुंचे। दिल्ली से रायपुर एयरपोर्ट आए। फिर सड़क मार्ग से दोपहर चकरभाठा एयरपोर्ट का जायजा लेने पहुंचे। अफसरों ने एयरपोर्ट की व्यवस्थाओं के साथ ही तकनीकी रूप से निरीक्षण किया।

इस दौरान उन्होंने फोटोग्राफ्स लेने के साथ ही वीडियोग्राफी भी की है, जिसे रिपोर्ट के साथ एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया व विमानन विभाग को सौपेंगे। इसी आधार पर एयरपोर्ट को थ्री सी कैटेगरी लाइसेंस मिलेगा। टीम ने एयरपोर्ट को देखकर संतुष्टि जताई है। निरीक्षण के दौरान हाई कोर्ट के वकील सुदीप श्रीवास्तव के साथ ही उपमहाधिवक्ता सुदीप अग्रवाल, आशीष श्रीवास्तव, राजेश केशरवानी, कांग्रेस नेता राजेंद्र शुक्ला व कमल सलूजा उपस्थित रहे।

कोर्ट की फटकार के बाद पूरा हुआ है काम

राज्य शासन ने एयरपोर्ट में टर्मिनल व रनवे को बढ़ाने का काम किया था, तब टू सी कैटेगरी लाइसेंस जारी हुआ। एयरपोर्ट को टू सी लाइसेंस मिले सालभर से ज्यादा समय बीत गया है। फिर भी यहां से हवाई सेवा शुरू नहीं हो पाई है। इसके चलते हाई कोर्ट ने केंद्र व राज्य शासन पर नाराजगी जताई।

एयरपोर्ट को थ्री सी के साथ ही फोर सी कैटेगरी के लिए उन्न्नयन करने को लेकर भी काम किए गए। इस बीच एयरपोर्ट को थ्री सी कैटेगरी के लिए उन्न्नयन करने का काम पूरा हो गया है। रनवे के दोनों ओर ग्रेंडिंग, फेसिंग समेत अन्य तकनीकी दिक्कतों को भी दूर कर लिया गया है।

दस्तावेज का भी करेंगे परीक्षण

जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि डीजीसीए व एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया के अधिकारियों ने एयरपोर्ट का निरीक्षण कर लिया है। दरअसल चकरभाठा एयरपोर्ट को पहले से ही टू सी लाइसेंस मिल हुआ है। ऐसे में थ्री सी कैटेगरी लाइसेंस के लिए बताई गई खामियों को दूर कर लिया गया है और एयरपोर्ट अर्थारिटी के अनुरूप तैयार किया गया है।

तकनीकी जानकारी के लिए एयरपोर्ट के मैनेजर बीरेन सिंह ने रिकार्ड भी तैयार किए हैं। गुुस्र्वार को अधिकारी दस्तावेज की जांच करेंगे। इसके बाद दिल्ली पहुंचकर रिपोर्ट तैयार करेंगे और फिर उसे एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया को दिया जाएगा।

रायपुर में फ्लाईबिग के सीएमडी की हुई बैठक

चकरभाठा से हवाई उड़ान शुरू करने वाली फ्लाईबिग एयरलाइंस कंपनी के सीएमडी संजय मंडाविया व उनके सीईओ श्रीनिवास राव की बुधवार को राज्य शासन के विमानन विभाग के अफसरों के साथ बैठक हुई। पिछली बार प्रवास के दौरान उन्होंने रायपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ मुलाकात की थी। तभी उन्हें 13 जनवरी को विस्तार से चर्चा करने के लिए बुलाया गया था। उम्मीद की जा रही है कि एयरपोर्ट अथारिटी से लाइसेंस जारी होते ही फ्लाईबिग एयरलाइंस की तैयारियां भी अंतिम दौर पर रहेगी और बिलासपुर से हवाई सेवा शुरू हो जाएगी।

18 को हाई कोर्ट में होगी सुनवाई

हाई कोर्ट में हवाई सुविधा शुरू कराने की मांग को लेकर अलग-अलग दो जनहित याचिकाएं दायर की गई हंै। इस मामले में पिछले लंबे समय से सुनवाई चल रही थी। राज्य व केंद्र सरकार पर हाई कोर्ट ने नाराजगी भी जताई थी। पिछली सुनवाई के दौरान केंद्र व एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया की लेटलतीफी पर कोर्ट ने एतराज जताया था और अफसरों को हाई कोर्ट में बुलाने की चेतावनी दी थी।

इसके साथ ही कोर्ट ने केंद्र सरकार से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। इस प्रकरण की सुनवाई 18 जनवरी को होगी। ऐसे में केंद्र सरकार को हाई कोर्ट में जवाब देना होगा। जबकि राज्य शासन ने अपनी जिम्मेदारी पूरी कर एयरपोर्ट को थ्री सी कैटेगरी के लिए तैयार कर लाइसेंस के लिए आवेदन भी प्रस्तुत कर दिया है।

Posted By: anil.kurrey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस