बिलासपुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

सरकारी अस्पतालों से चिकित्सकों की गैरमौजूदगी की मिल रही शिकायत को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर डॉ.एसके अलंग ने मुख्यालय से नदारद रहने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देशि दिए हैं। इसके अलावा संस्थागत प्रसव में टारगेट पूरा न करने वाले अस्पताल प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने कहा है।

मंगलवार को मंथन सभाकक्ष में कलेक्टर डॉ.अलंग टीएल की मीटिंग ले रहे थे। बारिश के मौसम में मौसमी बीमारियों के रोकथाम के लिए गंभीरता के साथ काम करने कहा । इस दौरान इस बात की भी शिकायत मिली कि चिकित्सक मुख्यालय में नहीं रहते । खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में पदस्थ डॉक्टर मौके पर न रहने के कारण ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। कलेक्टर ने इसे गंभीरता से लेते हुए हेडक्वार्टर में न रहने वाले चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए । कलेक्टर ने कैदियों का आधार कार्ड बनाने और बैंक अकाउंट खोलने के लिए सेंट्रल जेल में शिविर लगाने भी कहा है। उन्होंने जिले के प्रत्येक स्कूल में मध्यान्ह भोजन का मेनू दीवार पर प्रदर्शित करने और इसका पालन प्रतिवेदन देने कहा है। उन्होंने कहा कि मध्यान्ह भोजन बनाने वाले रसोइयों को पौष्टिक भोजन बनाने का प्रशिक्षण दिया जाए। मध्यान्ह भोजन में मेनू और प्रोटीन स्तर का पालन अनिवार्य है। निर्धारित मानकों के अनुरूप भोजन नहीं पाये जाने पर मध्यान्ह भोजन का संचालन करने वाले समूहों को हटाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया कि वे प्रतिदिन स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के बारे में जानकारी लें। कलेक्टर ने जिले में खाद और बीज भंडारण और उठाव की समीक्षा की। सहकारी समितियों में 26 हजार टन खाद भंडारण के विरुद्घ 12 हजार टन का उठाव किया गया है। उन्होंने वन अधिकार पट्टाधारी हितग्राहियों को शासन की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने के निर्देश दिए।

प्लास्टिक जब्ती की कार्रवाई गंभीरता से करें

कलेक्टर ने जिले के सभी नगरीय निकायों और ग्राम पंचायतों में प्लास्टिक से बनी सामग्री की जब्ती की कार्रवाई मे तेजी लाने कहा है। उन्होंने कहा कि सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और नगरीय निकायों के सीएमओ हर दिन छापामार कार्रवाई करें ।

जाति प्रमाण पत्र के आवेदन न हो अधूरे

कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया कि विद्यार्थियों का जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए आवेदन पत्र जरूरी दस्तावेज के साथ प्रस्तुत किया जाए। आवेदन अधूरे होने पर संबंधित जिम्मेदार अधिकारी, कर्मचारी पर सख्त कार्रवाई करने कहा । जाति प्रमाण पत्र के पुराने आवेदनों को प्राथमिकता से निराकृत करने की हिदायत भी दी । राजस्व प्रकरणों के निराकरण की भी उन्होेंने समीक्षा की। नक्शा अपडेशन कार्य की धीमी प्रगति पर असंतोष जताया और कहा कि प्रतिदिन 100 नक्शा अपडेट होना चाहिए। राशनकार्ड के नवीनीकरण अभियान के तहत राशनकार्डों के सत्यापन के बाद डाटा एंट्री की तैयारी करने और प्रतिदिन प्राप्त आवेदनों की डाटा एंट्री कराने के निर्देश दिए।