बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

पटरियों के किनारे उपद्रवियों ने झाड़ियों में आग लगा दी। पत्ती सूखी होने के कारण बड़ी तेज से आग की लपटें फैलने लगी। इसी बीच शहडोल- अंबिकापुर पैसेंजर पहुंची। चालक की नजर पड़ने पर उन्होंने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोक दी। इस घटना से यात्रियों में भी हड़कंप मच गया। थोड़ी देर बाद आग बुझी। इसके बाद ट्रेन गंतव्य के लिए रवाना हुई।

घटना रविवार शाम 5.30 बजे की है। 58201 शहडोल- अंबिकापुर पैसेंजर उदलकछार रेलवे स्टेशन निर्धारित समय पर पहुंचने के बाद रवाना हुई। अभी बामुश्किल एक किमी की दूरी तय की थी कि सामने का नजारा देखकर चालक के होश उड़ गए। लाइन के किनारे आग लगी थी और तेज धुआं भी उठा रहा था। इस स्थिति में ट्रेन को निकलना संभव नहीं था। लिहाजा उसने संरक्षा को गंभीरता से लेते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगाने की कोशिश की। बताते कि ट्रेन उस समय ट्रेन रफ्तार पर थी। चालक ने सजगता से काम लिया और सावधानीपूर्वक ट्रेन को रोकी। जहां आग लगी थी, उससे कुछ दूर पर ट्रेन के पहिए थम गए। इसके बाद चालक ने उतरकर देखा। जिससे यह पता चला कि यह घटना उपद्रवी की करतूत है। पहाड़ी व जंगल से घिरे इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोग पिकनिक मनाने के लिए आते हैं। इन्हीं में से किसी ने सूखी पत्ती पर आग लगाई थी। जो धीरे- धीरे फैल गई।

आधे घंटे जंगल में खड़ी रही ट्रेन

जिस जगह पर घटना हुई वह चारों तरफ से पहाड़ व जंगल से घिरा है। आगजनी की इस घटना के कारण ट्रेन को रोकना पड़ा। इसके बाद करीब आधे घंटे तक इंतजार किया गया। तब तक ट्रेन मौके पर ही खड़ी रही। बाद में चालक ने इसकी सूचना कंट्रोल व स्टेशन मास्टर को दी। कुछ कर्मचारी मौके पर पहुंचे भी। उस समय तक आग पूरी तरह बुझ चुकी थी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close