बिलासपुर। सिविल लाइन पुलिस और एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट ने जरहाभाठा में दबिश देकर भारी मात्रा में नशीली इंजेक्शन जब्त किया है। आरोपित के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। सिविल लाइन थाना प्रभारी जेपी गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार की रात सूचना मिली कि एक युवक मिनी बस्ती बड़े जैतखाम के पास युवकों को नशीली दवा बेच रहा है। सूचना पर एसीसीयू की टीम और सिविल लाइन पुलिस मौके पर पहुंची।

जवानों को देखते ही नशेड़ी युवक वहां से भाग निकले। मौके पर घेराबंदी कर राहुल लहरे(20) को पकड़ लिया गया। पूछताछ में वह पुलिस को गुमराह कर रहा था। तलाशी लेने पर उसके पास से नशीली इंजेक्शन का एंपुल मिला। कड़ाई करने पर उसने अपने मकान में भारी मात्रा में नशीली कफ सिरप और इंजेक्शन रखना बताया। आरोपित की निशानदेही पर पुलिस ने 439 नशीला इंजेक्शन, 1375 एविल इंजेक्शन जब्त किया है। आरोपित के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

क्षेत्र में नहीं थम रहा नशे का कारोबार

बीते एक साल में सिविल लाइन पुलिस ने नशे के बड़े कारोबारियों समेत कई लोगों को पकड़कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने नशे के कारोबार में शामिल महिलाओं और नाबालिग को भी गिरफ्तार किया है। इसके बाद भी क्षेत्र में नशे के कारोबार पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। एक आरोपित के पकड़ाने के बाद दूसरा इस व्यवसाय में जुट जाता है।

शहर के कई क्षेत्र में सक्रिय हैं सौदागर

जिले में ट्रांसपोर्ट और कोरियर के माध्यम से नशीली दवाओं की सप्लाई की जा रही है। दूसरे जिलों में शहर से नशीली दवाओं को भेजा जाता है। बीते दिनों पुलिस ने जांजगीर-चांपा जिले के बलौदा निवासी दवा कारोबारी को नशीली दवाओं के साथ गिरफ्तार किया था। इसके अलावा जांजगीर-चांपा जिले में नशे का कारोबार करने वाले पुलिस की पकड़ में आए थे। शहर के तालापारा, अशोकनगर, रेलवे क्षेत्र में भी नशे के कारोबारी सक्रिय हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local