बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अंतरराज्यीय और अंतरजिला यात्रा के लिए अनुमति मांगने के लिए राज्य शासन ने कोविड-19 ई पास एप तैयार कराया है। लेकिन, यात्रा की इस छूट के रास्ते में अब तकनीक ही बाधा बन गई है। कई मोबाइल में पूरा एप डाउनलोड नहीं हो पा रहा है। इसका असर यह हो रहा है कि ऑनलाइन यात्रा के लिए परमिशन मांगने की प्रक्रिया लोग नहीं कर पा रहे हैं। इससे जिले के सैकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं।

शासन के ई पास एप कोविड-19 के जरिए ही एक जिले से दूसरे और एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए अनुमति मांगी जा सकती है। इस एप के जरिए ऑनलाइन आवेदन कलेक्टोरेट चला जाता है और ऑनलाइन ही अनुमति मोबाइल पर ही मिल जाती है। इससे आवेदकों को कलेक्टोरेट जाने की भी जरूरत नहीं पड़ती। यह कोविड-19 एप कुल 12 एमबी का है। तकनीकी फाल्ट के कारण यह एप कई मोबाइल में पूरा डाउनलोड नहीं होता। कई यूजर के मोबाइल में केवल 11.78 एमबी ही डाउनलोड हो रहा है। इसका असर यह होता है कि अनुमति मांगने की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पाती। आवेदन करने के लिए नियम और शर्तों का पालन करने की सहमति के लिए बनाया गया ओके बटन त्रुटि के कारण ऑप्शन में ही नहीं आता। इसका असर यह हो रहा है कि यूजर अपना नाम, पता, फोटोग्राफ आदि अपलोड करके आवेदन नहीं कर पा रहे हैं। खास बात यह है कि एक बार अपलोड नहीं होने पर उसे अनइंस्टाल करके फिर डाउनलोड करने पर भी पूरी फाइल अपलोड नहीं होती। इससे जिनके मोबाइल पर पूरा एप डाउनलोड नहीं हो रहा है उन्हें कई कोशिशों के बाद भी कामयाबी नहीं मिल रही है। खास बात यह है कि ऑनलाइन आवेदन खुद के मोबाइल से करना जरूरी है। क्योंकि अनुमति मोबाइल पर ही ऑनलाइन आती है, जिसे रास्ते पर दिखाना जरूरी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना