बिलासपुर। जिले के थोक व चिल्हर दवा विक्रेता संघ सिंडिकेट बनाकर काम कर रहे हैं। संघ के दवाब के कारण 93 मेडिकल स्टोर ने दवा का छूट का बोर्ड हटा दिया है। इससे पहले संघ ने चेतावनी दी थी कि छूट का बोर्ड नहीं हटाया गया तो दवा सप्लाई बंद करा दी जाएगी। शासन दवाओं को सस्ता करने लगातार प्रयास कर रही है, ताकि जनता को महंगी दवाओं का भार कम सहना पड़े। दूसरी और जिले के थोक व चिल्हर दवा विक्रेता संघ को उपभोक्ता से कोई सरोकार नहीं है। किसी भी दुकानदार द्वारा कम दर में दवा उपलब्ध कराना संघ के पदाधिकारियों को रास नहीं आ रहा है।

मार्केट खराब करने का आरोप लगाकर छूट देने वाले दुकानदार पर दबाव बनाया जा रहा है। ताकि वे लोगों को दवाओं में जरा भी छूट न दें। फिर भी कुछ मेडिकल स्टोर संचालक कम लाभ पर व्यवसाय करने के पक्ष में हैं। उनका कहना है कि इससे ग्राहकों की संख्या बढ़ती है। इस तरह कोई घाटा नहीं होता है। साथ ही मरीजों व उनके स्वजन को भी महंगी दवा से राहत मिल जाती है। ऐसे में संघ के पदाधिकारी अब सिंडिकेट बनाकर दवा से छूट बंद कराने में लगे हैं। इसी के तहत दवा दुकान संचालकों के वाट्सएप ग्रुप में फरमान जारी किया है कि सोमवार तक छूट का बोर्ड नहीं हटाने वालों की दवा सप्लाई बंद कर दी जाएगी। इसके बाद 93 मेडिकल स्टोर वालांे ने छूट का बोर्ड हटा दिया है। हालांकि कुछ दुकानदार धमकी के बाद भी अपनी मर्जी से व्यवसाय कर रहे हैं। उन्होंने छूट का बोर्ड नहीं हटाया है। लेकिन अब वे संघ की नजर में हैं और उनका बहिष्कार कर दिया गया है। उन्हें दवा सप्लाई नहीं की जा रही है।

विहान मेडिकल स्टोर के संचालक हो रहे परेशान

शहर में विहान फार्मेसी स्टोर के नाम से दवा दुकानें संचालित हो रही हैं। इसकी कई ब्रांच हैं। जहां पर हर प्रकार के ब्रांडेड दवाओं पर 15 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। इसके संचालक विमल कुमार ने बताया कि उन पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है कि दवा में जरा भी छूट न दें। उनके बाद भी वे छूट देते रहे तो दवा की आपूर्र्ति बंद करा दी गई है। थोक व विक्रेता संघ सिंडिकेट बनाकर चल रहे हैं। इनका उद्देश्य है कि दवा के कारोबार में ज्यादा से ज्यादा कमाई की जाए।

क्या करते हैं अधिकारी

कोई किसी को छूट देने से मना नहीं कर सकता है। यदि छूट देने की वजह से किसी दुकानदार को दवा सप्लाई नहीं की जा रही है तो यह गलत है। यदि ऐसा मामला सामने आएगा तो संबंधित ड्रग फर्म के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

रवि गेंदले

एडीसी, ड्रग विभाग

मामले की शिकायत मिली है। इसकी जांच करने को कहा गया है। यदि दवा संघ किसी के ऊपर दबाव बना रहा है तो कार्रवाई की जाएगी।

प्रमोद महाजन

सीएमएचओ

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close