बिलासपुर। मुंगेली जिले के लोरमी क्षेत्र के ग्राम धोबघट्टी में चारागाह व श्मशान की जमीन पर अतिक्रमण कर लिया गया है। इसके चलते ग्रामवासियों के सार्वजनिक उपयोग के लिए जगह नहीं है। शासकीय जमीन पर कब्जा कर लोगों ने मकान बना लिया है। वहीं, कुछ लोग कब्जे की जमीन की खरीद-बिक्री भी कर रहे हैं। शासकीय जमीन की इस तरह बंदरबाट करने पर ग्रामीणों ने विरोध किया। शासन के साथ ही अधिकारियों की ओर से पेश किए गए जवाब के बाद ही मामले में फैसला लिया जाएगा।

इसके साथ ही स्थानीय अधिकारी, एसडीएम व कलेक्टर से भी मामले की शिकायत की गई। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने पर स्थानीय निवासी संतोष कश्यप ने अधिवक्ता लवकुश साहू के माध्यम से हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की है। इसमें कहा गया कि कब्जाधारियों ने श्मशान, गोठान, चारागाह, निस्तारी रास्ता समेत अधिकांश शासकीय भूमि पर कब्जा कर लिया है। इसकी शिकायत 2011-12 में प्रधान से की गई थी। इस बीच प्रशासन के निर्देश पर अधीनस्थ अधिकारी-कर्मचारी मौके में जाकर सिर्फ खानापूर्ति कर ली और कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब गांव के आम लोगों को अपनी निस्तरी के लिए सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है। इस मामले की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश प्रशांत मिश्रा व जस्टिस पीपी साहू की युगलपीठ में हुई। कोर्ट ने राज्य शासन व कलेक्टर को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। इसके साथ ही निजी कब्जाधारियों को भी नोटिस जारी जवाब प्रस्तुत करने कहा गया है। प्रकरण की अगली सुनवाई 23 जुलाई को होगी। शासन के साथ ही अधिकारियों की ओर से पेश किए गए जवाब के बाद ही मामले में फैसला लिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags