बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कानन पेंडारी जू की मान्यता की अवधि समाप्त हो गई है। नवीनीकरण के लिए जू प्रबंधन द्वारा आवेदन के साथ शुल्क भी जमा कर दिया गया है। लेकिन, आगे की मान्यता अब तक नहीं मिली है। हालांकि नियामानुसार पहले केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण की टीम कानन पेंडारी जू का निरीक्षण करने के लिए पहुंचेगी। यदि उन्हें यहां सब कुछ मापदंड के अनुसार मिला, तभी आगे की मान्यता दी जाएगी। जू प्रबंधन भी इस बात को लेकर चिंतित है कि निरीक्षण का निष्कर्ष क्या निकलेगा। दरअसल जू में कुछ कमियां अब भी हैं। इसके चलते मान्यता पर आंच आ सकती है।

जू की चार श्रेणी होती है। इनमें सबसे पहले मिनी, स्माल, मीडियम और लार्ज जू शामिल हैं। वर्तमान में कानन को मीडियम जू की मान्यता है। यह मान्यता वर्ष 2019 में केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने निरीक्षण के दौरान दी थी। हालांकि इसके लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। प्राधिकरण ने इसी शर्त पर मीडियम जू की मान्यता दी थी कि बचे हुए सारे मापदंड पूरे कर लिए जाएंगे। प्रबंधन ने सबसे बड़ी कमी डायरेक्टर की पूरी कर ली है।

बायोस्फीयर रिजर्व के संचालक ही कानन पेंडारी जू की जवाबदारी संभालते हैं। सीजेडए ने सबसे ज्यादा डायरेक्टर को ही लेकर आपत्ति जताई थी। इसीलिए शासन ने इस पर जोर दिया। पर अभी तीन ऐसी कमियां हैं, जो आज तक पूरी नहीं हो सकी है।

इसमें जू के अस्पताल में एक बायोलाजिस्ट व कंपाडर की नियुक्ति और सबसे प्रमुख मास्टर प्लान है। इसे जू प्रबंधन ने आज तक पूरा नहीं किया है। जबकि मीडियम जू की मान्यता हासिल करने के लिए प्रबंधन को भारी मशक्कत करनी पड़ी थी। इसके बाद भी कमियां दूर नहीं की गई है। इधर चार की अवधि पूरी होने गई है। इसलिए अब दोबारा मान्यता लेने के लिए केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण की सहमति जरूरी है। प्राधिकरण यह सहमति तभी देगा, जब कानन पेंडारी जू आकर निरीक्षण करेंगे। जू प्रबंधन ने इसके लिए प्राधिकरण को पत्राचार कर दिया है। इस लिहाज से टीम दिसंबर में किसी भी तिथि में निरीक्षण करने आ सकती है।

फैक्ट फाइल

क्षेत्र --- 65 हैक्टेयर

वन्य प्राणियों की संख्या --- 650

लुप्तप्राय प्रजाति --- 28

कुल प्रजातियां --- 65

नहीं तो फिर बन जाएगा स्माल जू

केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण की टीम कानन पेंडारी जू निरीक्षण करने आएगी। यदि उन्होंने कमियों को पूरा करने के लिए छूट दे दी तो मानकर चलिए की चार साल की मीडियम जू बना रहेगा। लेकिन सख्ती बरती गई तो कानन पेंडारी जू मीडियम जू से एक कदम पीछे स्माल जू में चला जाएगा।

क्या कहते हैं अधिकारी

कानन पेंडारी जू का मास्टर प्लान तैयार हो गया है। एक महीने के भीतर इसे भेज दिया जाएगा। इसके अलावा रिक्त पदों को लेकर पूर्व में वाइल्ड लाइफ पीसीसीएफ को पत्राचार किया गया था। वहां से राज्य शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। शासन को निर्णय लेना है। प्राधिकरण की टीम के निरीक्षण की जानकार देते हुए एक बार मुख्यालय से निवेदन किया जाएगा।

कुमार निशांत

प्रभारी संचालक, अचानकमार-अमरकंटक बायोस्फीर रिजर्व

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close