बिलासपुर।Bilaspur News: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इतिहास में यह पहली मर्तबे हुआ जब प्रांतीय पदाधिकारियों व रणनीतिकारों ने नगर कार्यवाह के पद से विश्वास जलताड़े को हटा दिया है। उनका कार्यकाल महज तीन वर्ष का रहा। पूर्व के नगर कार्यवाह की सूची और कार्यकाल पर नजर डालें तो एक दशक से किसी भी पदाधिकारी का कार्यकाल कम नहीं रहा है। यह पहला मौका है जब नगर कार्यवाह के महत्वपूर्ण पद को लेकर रणनीतिकारों ने बड़ी कार्रवाई की है। फिलहाल यह पद रिक्त है। नई नियुक्ति को लेकर प्रांतीय पदाधिकारियों के बीच रायशुमारी का दौर चल रहा है।

अविभाजित मध्यप्रदेश के दौर से लेकर राज्य निर्माण के बाद तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) की नजरों में बिलासपुर नगर और विभाग संगठन के नजरिए से टाप पर रहा है। आपातकाल के दौर में भी बिलासपुर नगर और विभाग में संगठनात्मक ऐसा मजबूत रहा कि सरकारी बंदिशों के बाद भी संघ के पदाधिकारी व स्वयंसेवक ना केवल सक्रिय रहे वरन संघ परिवार से जुड़े सदस्यों व परिवार के सदस्यों की लगातार मदद भी किया।

संगठन का ढांचा इतना मजबूत कि चुनिंदा पदाधिकारियों से लेकर ऐसे स्वयंसेवक निकले जिन्होंने अपनी संगठनात्मक क्षमता की प्रांत के साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर अलग छवि बनाई। संघ के रणनीतिकार इस बात को लेकर हतप्रभ हंै कि नगर का संगठनात्मक ढांचा क्यों डगमगा गया। बीते तीन वर्ष के दौरान ऐसी क्या स्थिति निर्मित हो गई कि प्रतिबद्ध परिवार ने भी किनारा करना शुरू कर दिया। संगठनात्मक गतिविधियां पर जहां विराम लगा वहीं कामकाज भी पूरी तरह ठप पड़ गया।

अपने स्तर पर की गई खोजबीन के बाद संघ के रणनीतिकारों ने कड़ा निर्णय लेते हुए विश्वास जलताड़े को नगर कार्यवाह के पद से मुक्त करते हुए शारीरिक विभाग में नई जिम्मेदारी सौंपी है। पदाधिकारियों के दायित्व बदलने का संघ का यह अपना फार्मूला है। जागृति मंडल के इस निर्णय को लेकर अटकलबाजी का दौर भी जारी है।

विभाग संघचालक के पद से काशीनाथ मुक्त

संघ के प्रातीय मुख्यालय जागृति मंडल में बीते दिनों रणनीतिकारों व प्रांतीय पदाधिकारियों की मौजूदगी में संगठन को दुस्र्स्त करने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। इसी कड़ी में बिलासपुर विभाग संघचालक काशीनाथ गोरे की जगह पीएससी के पूर्व सदस्य प्रदीप देश्पांडे को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रांत कार्यवाह चंद्रशेखर वर्मा की जगह चंद्रशेखर देवांगन को नई जिम्मेदारी दी गई है।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags