बिलासपुर। Bilaspur News: सिम्स में शवगृह के चार फ्रीजर फिर से खराब हो गए हैं। ऐसे में कई बार ज्यादा शव होने की दशा में उन्हें बाहर रखना पड़ता है। इससे आसपास के क्षेत्र में बदबू तक फैल जाती है। वहीं शव के जल्दी सड़ने की आशंका रहती है। शवगृह में 10 डीप फ्रीजर हैं, जिनमें शव को रखा जाता है। आम तौर पर हर दिन कम से कम दो से तीन शव रहते हैं। लेकिन चार फ्रीजर के खराब होने से छह का उपयोग हो रहा है।

ऐसे में किसी दिन ज्यादा शव आ जाने पर दिक्कत होती है। शवों को फर्श पर खुले में रखना पड़ता है। बाहर होने की वजह से कुछ घंटे बाद शव के डीकंपोज की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। इसकी वजह से शव से बदबू आने लगती है। वहीं लावारिस लाश के सड़ने की आशंका ज्यादा रहती है। क्योंकि इन्हें कई दिनों तक रखना रहता है। इस समस्या की जानकारी सिम्स प्रबंधन को भी है। इसके बाद भी फ्रीजर को नहीं बनवाया जा रहा है। इधर बदबू की वजह से आसपास हर वक्त कुत्ते मंडराते रहते हैं, जो फर्श पर रखे शव को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

दूरदराज के लोगों को होती है दिक्कत

सिम्स में रोजाना पांच से सात मरीजों की मौत होती है। इसमें बीमार, दुर्घटना या दूसरे राज्य के गंभीर मरीजों के मामले होते हैं। इनके स्वजन के समय पर नहीं आने या रात में शव नहीं ले जाने की स्थिति में शवगृह में रखा जाता है। फ्रीजर में पहले से शव होने की स्थिति में कर्मचारी शव रखने से मना कर देते हैं। ऐसे में स्वजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local