बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। ठग ने वाट्सएप पर मैसेज भेजकर रेलवे स्कूल के प्रधान पाठक को पांच प्रतिशत ब्याज का झांसा दिया। उसकी बात में आकर प्रधान पाठन ने 21 लाख 53 हजार 222 रुपये खाते में जमा करवा दिए। बाद में स्र्पये नहीं मिलने पर प्रधान पाठक को ठगी का पता चला। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी के तहत अपराध दर्ज किया।

तोरवा के गणेश हाइट्स साईधाम के रहने वाले लाहीरी कमलेश अमलेश रेलवे स्कूल के प्रधान पाठक हैं। 16 सितंबर को प्रधान पाठक के मोबाइल पर एक अनजान नंबर से वाट्अप मैसेज आया। इसमें स्र्पये जमा कराने पर अधिक ब्याज देने की बात लिखी थी। प्रधान पाठक को लिंक भेजा गया। उस लिंक में खाता बनाने के लिए कहा गया। उन्होंने खाता बनाया। उस लिंक में राशि जमा करने और आहरण करने का एक सिस्टम बना था। ठग के कहने पर प्रधान पाठक ने 100 रुपये का रिचार्ज किया। उन्होंने स्क्रीनशाट ठग को भेज दिया। इसके बाद ठग ने उसे एक रिसेप्शनिस्ट को जोड़ने के लिए कहा। रिसेप्शनिस्ट से सभी प्रकार के काम कराया जाएगा। काम पूरा होने पर खाते में जमा राशि के मुताबाकि कमीशन देने भरोसा दिया।

16 अगस्त से 27 अगस्त 2022 के बीच प्रधान पाठक ने खाते में 20 लाख 53 हजार 222 रुपये जमा किए। उसके खाते में जमा राशि समेत ब्याज की राशि भी दिखाई जा रही थी। प्रधान पाठक को दिए गए सभी कार्य पूर्ण हो गए। जमा राशि को निकलाने के लिए टैक्स के रूप में प्रधान पाठक से एक लाख रुपये फिर से जमा करवाया। इसके बाद भी पैसा वापस नहीं मिला। तब प्रधान पाठक को धोखाधड़ी के बारे में पता चला। पीड़ित की शिकायत पर तोरवा पुलिस ने अपराध दर्ज किया।

सदस्य जोड़ने का दिया था काम

ठग ने पहले प्रधान पाठक को लिंक से जोड़ा और उसके नाम पर खाता खोल दिया। फिर प्रधान पाठक को अपने नीचे अन्य लोगों को जोड़ने का काम दिया। साथ ही खाते में पैसा जमा कराया गया। लालच में आकर प्रधान पाठक ने 20 लाख 53 हजार 222 रुपये जमा कर दिए।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close